लखनऊ में ब्लैक फंगस का प्रकोप जारी-25 नए मरीज और पांच की मौत

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

लखनऊ में ब्लैक फंगस का प्रकोप जारी-25 नए मरीज और पांच की मौत


🗒 बुधवार, मई 26 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
लखनऊ में ब्लैक फंगस का प्रकोप जारी-25 नए मरीज और पांच की मौत

लखनऊ,। कोरोना संक्रमण दर में लगातार कमी हो रही है। ठीक होने वालों की तादाद भी बढ़ रही है, लेकिन मौत का आंकड़ा कम नहीं हो रहा है। बुधवार को 11 संक्रमितों ने इलाज के दौरान दम तोड़ा। हालांकि नए संक्रमितों की संख्या घटकर 129 रह गई है। करीब 66 दिन बाद मरीजों का आंकड़ा 200 से नीचे आया है। इससे पहले 20 मार्च को संक्रमण के 115 नए मामले मिले थे। लगातार मरीजों की घटती संख्या से स्वास्थ्य विभाग ने राहत की सांस ली है। वहीं ब्लैक फंगस लगातार पांव पसार रहा है। इससे पीडि़त मरीज अन्य जिलों से भी बड़ी संख्या में लखनऊ आ रहे हैं। लखनऊ के विभिन्न अस्पतालों में 24 घंटे में 25 नए मरीज भर्ती हुए हैं, जबकि पांच लोगों की मौत हो गई।वायरस को मात देने वालों की संख्या में तेजी से वृद्धि हो रही है। 536 मरीजों ने वायरस को परास्त किया। राहत की बात यह है कि संक्रमित से करीब चार गुना अधिक मरीज ठीक हुए हैं। अब सक्रिय मरीजों की संख्या 4271 बची है। सीएमओ डा. संजय भटनागर के मुताबिक अस्पतालों में करीब 1230 से कम मरीज भर्ती हैं।ब्लैक फंगस के सबसे ज्यादा मरीज किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय (केजीएमयू) में भर्ती किए जा रहे हैं। अस्पतालों में अब तक ब्लैक फंगस के 269 मरीज भर्ती किए जा चुके हैं। वहीं, 26 मरीज अब तक दम तोड़ चुके हैं। केजीएमयू में अब तक 170 मरीज भर्ती किए जा चुके हैं। बुधवार को यहां 25 नए मरीज भर्ती किए गए हैं। इसके साथ ही 17 मरीजों के आपरेशन किए गए हैं। वहीं, ईएनटी विभाग के डाक्टरों की टीम लगातार ऑपरेशन में जुटी है।केजीएमयू प्रवक्ता डा. सुधीर सि‍ंह के मुताबिक चार मरीजों ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया है। इनमें कन्नौज निवासी 60 वर्षीय पुरुष, फर्रुखाबाद के 52 वर्षीय पुरुष, नवाबगंज के 65 वर्षीय पुरुष व लखनऊ स्थित सलेमपुर निवासी 47 वर्षीय पुरुष शामिल हैं। उधर, लोहिया संस्थान में एक नया मरीज भर्ती किया गया है। अब तक यहां 21 मरीज भर्ती किए जा चुके हैं, जबकि एक मरीज ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। पीजीआइ में तीन नए मरीज भर्ती किए गए हैं। एक मरीज का आपरेशन किया गया है। अब तक पीजीआइ में 31 मरीज भर्ती किए जा चुके हैं।