यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

यूपी में अब कोरोना रिकवरी रेट बढ़कर 95.1 फीसद, 3,371 नए केस मिले


🗒 बुधवार, मई 26 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
यूपी में अब कोरोना रिकवरी रेट बढ़कर 95.1 फीसद, 3,371 नए केस मिले

लखनऊ, । उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस का संक्रमण अब तेजी से घट रहा है। बीते 24 घंटे में कोरोना से संक्रमित 3,371 नए रोगी मिले। वहीं 10,540 रोगी ठीक हुए। इस दौरान 196 मरीजों की और लोगों की मौत हो गई है। अब तक कुल 16.77 लाख लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं और इसमें से 15.98 लाख लोग स्वस्थ हो चुके हैं। स्वस्थ्य होने वाले मरीजों की तेज रफ्तार के चलते रिकवरी रेट तेजी से सुधर रहा है। अब रिकवरी रेट बढ़कर 95.1 प्रतिशत हो गया है। उधर, पाजिटिविटी रेट भी अब एक फीसद पर पहुंच गया है।मई में कोरोना संक्रमण की रफ्तार काफी धीमी हुई है। 30 अप्रैल को प्रदेश में 3.10 लाख सक्रिय केस थे और अब यह घटकर 62,271 रह गए हैं। यानी मई में सक्रिय केस करीब 80 प्रतिशत कम हुए हैं। शहरी क्षेत्रों के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में निगरानी कमेटियों के माध्यम से संक्रमित लोगों को चिन्हित करने का काम तेजी से चल रहा है। उधर बीते 24 घंटे में 196 मरीजों की और मौत हुई। अभी तक कुल 19,712 लोगों की जान यह खतरनाक वायरस ले चुका है।कोरोना संक्रमण को काबू करने के लिए उत्तर प्रदेश में जांच का दायरा लगातार बढ़ाया जा रहा है। बुधवार को एक दिन में 3.58 लाख लोगों की कोरोना जांच कर यूपी ने नया रिकार्ड बनाया। अभी बीती 24 मई को एक दिन में 3.1 लाख लोगों का कोरोना टेस्ट किया गया था। फिलहाल अब हर दिन जांच का नया रिकार्ड बन रहा है। देश में अब तक सबसे ज्यादा 4.76 करोड़ लोगों की कोरोना जांच यूपी में ही हुई है।उत्तर प्रदेश में शुरुआत से ही कोरोना जांच पर सबसे ज्यादा फोकस किया गया। एक दिन में जो 3.58 लाख सैंपल जांचे गए, उनमें 1.48 लाख सैंपल की आरटीपीसीआर जांच की गई। बाकी सैंपल एंटीजन व ट्रूनैट मशीन के माध्यम से जांचे गए। यूपी के बाद देश में दूसरे नंबर पर महाराष्ट्र में 3.4 करोड़ लोगों का कोरोना टेस्ट किया गया है। तीसरे नंबर पर कर्नाटक में 2.9 करोड़, चौथे नंबर पर तमिलनाडु में 2.7 करोड़ और पांचवें नंबर पर गुजरात में 2.1 करोड़ लोगों की कोरोना जांच की जा चुकी है।उप्र सचिवालय में कार्यरत करीब पांच हजार कर्मचारियों व अधिकारियों को कोरोना से बचाने के लिए अलग टीकाकरण केंद्र बनाने को मंजूरी दी गई है। सचिवालय की एलोपैथिक डिस्पेंसरी में टीकाकरण केंद्र बनाया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग को जल्द टीकाकरण शुरू करने के निर्देश दिए गए हैं। सचिवालय संघ के अध्यक्ष यादवेंद्र मिश्रा ने बताया कि सचिवालय संघ ने मार्च से ही इसकी मांग उठाई तो अब आखिरकार सरकार ने राहत दे दी है।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» आलमबाग बस टर्मिनल पर लगा वैक्सिनेशन कैम्प

» चोरी करने दो और शातिर चढे पुलिस के हत्थे

» नरेंद्र मोदी का जन्म देश की सेवा करने के लिए हुआ:-श्रीकृष्ण लोधी

» महिला से पर्स झपटने वाले गिरोह के तीन शातिर दबोचे

» यूपी में पेड़ और घर गिरने से 35 लोगों की मौत

 

नवीन समाचार व लेख

» चोरी करने दो और शातिर चढे पुलिस के हत्थे

» नरेंद्र मोदी का जन्म देश की सेवा करने के लिए हुआ:-श्रीकृष्ण लोधी

» विधायक आदिति सिंह ने गरीबों के लिए आगे बढ़ाया अपना हाथ

» डीएम ने जनपद के जलभराव क्षेत्रों का किया स्थलीय निरीक्षण

» अंक सुधार बोर्ड परीक्षा को नकल विहीन, निष्पक्ष शांतिपूर्ण तरीके से कराये सम्पन्न: वैभव श्रीवास्तव