यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

यूपी बीजेपी कोर कमेटी की बैठक में चुनावी रणनीति तय


🗒 सोमवार, जून 21 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
यूपी बीजेपी कोर कमेटी की बैठक में चुनावी रणनीति तय

लखनऊ । कोरोना महामारी से आमजन को मिले कष्ट से चुनौतीपूर्ण माने जा रहे उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव में जीत की रणनीति पर भारतीय जनता पार्टी ने तेजी से काम शुरू कर दिया है। 'सेवा ही संगठन' के सूत्र को ही सेतु बनाकर पार्टी जनता से जुड़ाव मजबूत करना चाहती है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पदाधिकारियों से मुलाकात के बाद पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री संगठन बीएल संतोष और प्रदेश प्रभारी राधामोहन सिंह ने सोमवार को मुख्यमंत्री के सरकारी आवास पर कोर कमेटी के साथ बैठक की। अभियानों की समीक्षा सहित सरकार और संगठन के साझा रोडमैप पर मंथन किया।विधानसभा चुनाव की तैयारियों के सिलसिले में बीएल संतोष और राधामोहन सिंह सोमवार सुबह राजधानी पहुंचे। भाजपा मुख्यालय में प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह और प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल के साथ कुछ देर चर्चा के बाद चारों वरिष्ठ पदाधिकारी शिष्टाचार भेंट के लिए निराला नगर स्थित राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यालय सरस्वती कुंज पहुंचे। यहां संघ के क्षेत्र प्रचारक अनिल सहित कुछ पदाधिकारियों से चर्चा की।भाजपा द्वारा सेवा ही संगठन अभियान के तहत शुरू की गई गतिविधियों पर चर्चा करते हुए जनता से जुड़ाव बढ़ाने संबंधी सुझाव भी मांगे। शाम को राष्ट्रीय महामंत्री संगठन और प्रदेश प्रभारी मुख्यमंत्री के सरकारी आवास पर पहुंचे। यहां मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य व डॉ. दिनेश शर्मा सहित पार्टी की कोर कमेटी के साथ बैठक की। पार्टी सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री के सरकारी आवास पर टीकाकरण अभियान, पोस्ट कोविड सेंटर संचालन तथा सामुदायिक व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को पार्टी के जनप्रतिनिधियों द्वारा गोद लिए जाने की प्रक्रिया आदि की समीक्षा की गई।इसी माह की शुरुआत में भी बीएल संतोष लखनऊ आए थे। तब कोरोना पीड़ितों के घर जनप्रतिनिधियों और पार्टी पदाधिकारियों को जाने को निर्देश दिया था। उसका भी ब्योरा लिया गया। 23 जून से शुरू हो रहे पौधारोपण सहित अन्य अभियान-कार्यक्रमों को लेकर मंथन किया गया। इसमें इस बात पर भी जोर था कि संगठन द्वारा चलाए जाने वाले कार्यक्रमों और अभियानों में सरकार कैसे बेहतर समन्वय के साथ भागीदारी कर सकती है। सेवा, संपर्क और संवाद ही चर्चा के केंद्र में रहा।चुनावी रणनीति के तहत जिन अभियान और कार्यक्रमों की रूपरेखा बनाई गई है, उसमें 25 जून को 'आपातकाल के काले दिन' को भी शामिल किया गया है। इस कार्यक्रम के तहत प्रदेश की जनता को कांग्रेस की तत्कालीन केंद्र सरकार द्वारा लगाए गए आपातकाल की याद दिलाए जाने का प्रयास होगा।कोर कमेटी की बैठक और अब तक के कार्यक्रमों की समीक्षा के आधार पर जो रोडमैप तैयार हुआ है, अब पार्टी पदाधिकारियों के माध्यम से उसे जमीन पर उतारा जाना है। इसके लिए दोनों राष्ट्रीय नेता मंगलवार को प्रदेश और क्षेत्र के वरिष्ठ पदाधिकारियों के साथ अलग-अलग बैठकें करेंगे। उनसे फीडबैक लेने के साथ अलग-अलग कार्यक्रमों की जिम्मेदारी भी सौंपी जाएगी।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» पूर्व निदेशक साक्षरता के विरुद्ध विजिलेंस जांच शुरू

» लखनऊ में धूं-धूं कर जली एसी जनरथ

» UP विजिलेंस ने भ्रष्ट अधिकारियों-कर्मियों के विरुद्ध कसा शिकंजा

» भाजपा विधायक जनता के बीच जाकर खुद सुनाएंगे अपना रिपोर्ट कार्ड

» भाजपा पिछड़ा मोर्चा की अयोध्या में बैठक, शामिल होंगे सीएम योगी आदित्यनाथ