साकार होगा PM नरेंद्र मोदी का सपना - CM योगी

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

साकार होगा PM नरेंद्र मोदी का सपना - CM योगी


🗒 रविवार, जुलाई 18 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
साकार होगा PM नरेंद्र मोदी का सपना - CM योगी

लखनऊ। सड़कों का संजाल मजबूत करने के साथ ही उत्तर प्रदेश की योगी सरकार हवाई सेवाओं को भी बढ़ाने में जुटी है। चार वर्ष में चार हवाईअड्डों का विकास कराने वाली यूपी सरकार जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट सहित अन्य हवाई अड्डे बना रही है। प्रदेश के नागरिक उड्डयन विभाग और नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (एनआइएएल) के बीच जमीन का लीज एग्रीमेंट होने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यह हवाई अड्डा बन जाने से आम आदमी को भी हवाई सेवाओं की उपलब्धता का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सपना साकार होगा।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सरकारी आवास पर नागरिक उड्डयन विभाग और नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के बीच नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट जेवर के लिए 1334 हेक्टेयर जमीन का लीज एग्रीमेंट हुआ। इस पर विशेष सचिव नागरिक उड्डयन विशाक जी., उपसचिव सत्यप्रकाश तिवारी और यीडा के मुख्य कार्यपालक अधिकारी डा. अरुणवीर सिंह ने हस्ताक्षर किए। साथ ही ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल, यमुना इंटरनेशनल प्राइवेट लिमिटेड और नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के बीच जेवर एयरपोर्ट के लिए शेयर होल्डर का अनुबंध हुआ, जिस पर ज्यूरिख एयरपोर्ट कंपनी के सीईओ क्रिसटोफ शेलमन, लीगल हेड शोभित गुप्ता, विशाक जी. और डा. अरुणवीर सिंह ने हस्ताक्षर किए।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज का लीज एग्रीमेण्ट इस एयरपोर्ट के त्वरित गति से निर्माण और उत्तर प्रदेश के त्वरित विकास के लिए मील का पत्थर साबित होगा। आज के उत्तर प्रदेश को विश्व पटल पर विकास योजनाओं को तेजी के साथ क्रियान्वित करने के लिए जाना जाएगा। इस परियोजना के पूरी होने के बाद प्रदेश की एयर कनेक्टिविटी और बेहतर हो जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी का सपना है कि आम आदमी को भी हवाई सेवाएं उपलब्ध हो सकें। जेवर एयरपोर्ट का विकास उनके इस सपने को साकार करेगा। साथ ही, यह हवाई अड्डा देश-प्रदेश की अर्थव्यवस्था को तेजी से आगे बढ़ाने में भी मददगार साबित होगा।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि वर्ष 2017 में प्रदेश में मात्र चार एयरपोर्ट लखनऊ, वाराणसी, गोरखपुर और आगरा में शुरू थे, जहां से कुल 25 शहर हवाई सेवाओं से जुड़े थे। वर्तमान में आठ हवाई अड्डों से कुल 71 स्थानों के लिए हवाई सेवा चल रही है। कुशीनगर एयरपोर्ट का निर्माण वर्ष 2021 में पूरा कराया गया। चार वर्षों में बरेली, प्रयागराज, हिंडन और कानपुर हवाई अड्डो का विकास पूरा कराया जा चुका है। आगरा, सहारनपुर, अलीगढ़, आजमगढ़, मुरादाबाद, श्रावस्ती, चित्रकूट, सोनभद्र, अयोध्या और जेवर सहित दस का विकास कराया जा रहा है। योगी ने कहा कि लखनऊ, वाराणसी और कुशीनगर में अंतरराष्ट्रीय स्तर के हवाई अड्डे हैं। जेवर और अयोध्या में बनने के बाद संख्या बढ़कर पांच हो जाएगी।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» महिला से पर्स झपटने वाले गिरोह के तीन शातिर दबोचे

» यूपी में पेड़ और घर गिरने से 35 लोगों की मौत

» सभी स्कूल और कालेज दो दिन के लिए बंद

» कैंसर संस्थान के निदेशक प्रो शालीन कुमार की छुट्टी

» सुप्रीम कोर्ट का उत्तर प्रदेश पशुपालन विभाग में फर्जी टेंडर दिलाने के आरोपितों को जमानत देने से इन्कार