यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

लखनऊ व‍िकास प्राध‍िकरण ने खाली कराई सौ करोड़ की भूम‍ि


🗒 शनिवार, जुलाई 24 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
लखनऊ व‍िकास प्राध‍िकरण ने खाली कराई सौ करोड़ की भूम‍ि

लखनऊ,। करीब सौ करोड़ से अधिक कीमत की लखनऊ विकास प्राधिकरण की जमीन पर कबाड़ी व्यवसायी ने कब्जा कर रखा था जिसका वह किराया भी वसूल रहा था। वीसी अभिषेक प्रकाश के निर्देश पर शनिवार को जमीन को कब्जे से मुक्त कराया गया। इस मामले में कब्जेदारों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने के निर्देश दिए गए हैं। ऐशबाग के भदेवां में नजूल की 12 बीघा जमीन पर शनिवार को जेसीबी चलाकर अवैध कब्जा हटाया। सचिव पवन गंगवार के मुताबिक खसरा संख्या 209, 210, 211, 212, 213, 214, 218 व 219 जिसका क्षेत्रफल 3.050 हेक्टेयर पर कई वर्षों से अवैध कब्जा था।इस पर नजूल अधिकारी आनंद कुमार सिंह को कार्रवाई के आदेश दिए गए थे। नजूल अधिकारी आनंद कुमार सिंह ने बताया कि उक्त जमीन का स्थलीय निरीक्षण करने पर पाया गया कि यहां करीब डेढ़ दर्जन लोग अवैध रूप से झुग्गी-झोपड़ी डालकर कबाड़ का काम कर रहे हैं। रईस अहमद नाम के व्यक्ति ने इन कबाड़ व्यापारियों को यहां अवैध रूप से बसाया था। पूछताछ में यह भी पता चला कि रईस अहमद द्वारा इन कब्जेदारों से अवैध रूप से किराया भी वसूला जा रहा था।जमीन खाली करने की हिदायत देते हुए कई बार चेताया भी गया, लेकिन इसके बाद भी इन लोगों द्वारा अतिक्रमण नहीं हटाया गया। इस पर शनिवार को लखनऊ विकास प्राधिकरण और पुलिस की संयुक्त टीम ने कार्रवाई करते हुए उक्त जमीन से अवैध कब्जा हटवाया। रईस अहमद समेत अन्य कब्जेदारों के खिलाफ स्थानीय थाने में मुकदमा दर्ज कराने के निर्देश दिए गए हैं।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» अज्ञात युवकों ने मोटर साइकिल से जा रहे पति व पत्नी का पर्स लेकर हुए फरार

» लखनऊ में हिस्ट्रीशीटर की हत्‍या में एक और आरोपित शामिल, रेकी और मुखबरी करने पर FIR दर्ज; वर्चस्व को लेकर हुई हत्‍या

» कार चालक ने ट्रैफिक पुलिस को सरेराह पीटा, मोबाइल भी तोड़ा; गिरफ्तार

» फर्जी है स्कूल स्टाफ सेलेक्शन बोर्ड

» रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मिला लखनऊ चिकनकारी एसोसिएशन