उच्चाधिकारियों के आदेशों की धज्जियां उड़ा रहा निगोहा थाने पर तैनात सिपाही

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

उच्चाधिकारियों के आदेशों की धज्जियां उड़ा रहा निगोहा थाने पर तैनात सिपाही


🗒 गुरुवार, अगस्त 26 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
उच्चाधिकारियों के आदेशों की धज्जियां उड़ा रहा निगोहा थाने पर तैनात सिपाही

 

मोहनलालगंज लखनऊ

निगोहा ग्रामीण थाने पर तैनात सिपाही अपने उच्चाधिकारियों के आदेशों की धज्जियां उड़ा रहा है। बिना मास्क पहरेदारी कर आगंतुकों को मास्क लगाने की नसीहत देता है जो बिना नेम प्लेट के ड्यूटी पर था प्रभारी निरीक्षक मूकदर्शक बने रहे। बताते चलें कि निगोहां ग्रामीण थाने पर क्षेत्र से पहुंचने वाले नागरिकों से थाने में पहरेदारी पर मौजूद सिपाही मनु ने मास्क न लगाए होने पर नसीहत दे डाली जबकि ड्यूटी पर तैनात सिपाही मनु संभ्रांत नागरिकों से अभद्र व्यवहार करते हुए परिसर से बाहर निकाल दिया जोकि खुद बिना मास्क पहरेदारी कर रहा था वह भी बिना नेम प्लेट के जब इसका नागरिकों ने विरोध किया तो वर्दी का रौब गाठने लगा परिसर पहुंचे व्यक्ति हवालात में बंद व्यक्ति से मिलने के लिए गए थे जिन्हे मिलने नहीं दिया गया उसी वक्त बिना वर्दी के एक और सिपाही पहुंचा जिनके साथ मिलने वाले मौजूद थे तो हवालात में बंद व्यक्ति से दूसरे व्यक्तियों से बात कराता रहा यह सारा तमाशा मौके पर मौजूद प्रभारी निरीक्षक की नजरो के सामने होता रहा और वह मूकदर्शक बने देखते रहे ।पुलिस विभाग के उच्चाधि कारियों के आदेशों की खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही है इससे पुलिस मित्र की सच्चाई का अंदाजा लगाया जा सकता है जो कि बिना मास्क,बिना नेम प्लेट के ड्यूटी पर तैनात सिपाही रौब गाठता रहा नाम पूछने पर और आग बबूला हो गया जब प्रकरण पत्रकारों को मालूम हुआ तो पूछने लगे
तो सिपाही मनु ने कहा कि हम पहरे पर हैं हम जिसको चाहेंगे मिलने देंगे और जिसको नहीं चाहेंगे नहीं मिलने देंगे। वही पत्रकार ने जब मनु सिपाही से जब नेम प्लेट और मास्क के बारे में पूछा तो सिपाही पत्रकार पर भी आग बबूला हो गया और उसने कहा कि यह जरूरी नहीं है कि नेम प्लेट और मास्क लगाया जाए जबकि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तीसरी लहर को लेकर सभी को मास्क लगाने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की बात करते हैं अब देखना यह है कि उच्चाधिकारियों द्वारा अभद्र व्यवहार करने वाले सिपाही पर क्या कार्रवाई की जाती है।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» मदरसे में पैरों में जंजीर बांधकर रखे गए थे बच्चे, वीडियो वायरल

» सास ने ले लिया माेबाइल तो विवाहिता ने लगा ली फांसी

» शराब पी रहे बदमाशों ने 15 वर्षीय युवक पर चलाई गोली

» युवकों ने थाने के अंदर सिपाही को जड़ा तमाचा

» पत‍ि को आत्महत्या के लिए उकसाने वाली पत्नी पर पांच साल कैद