यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

लखनऊ में 'गोल्ड हाउस' के नौकर ने ही कराई थी लूट, दोस्त के घर पर रची थी साजिश-तीन गिरफ्तार


🗒 सोमवार, अगस्त 30 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
लखनऊ में 'गोल्ड हाउस' के नौकर ने ही कराई थी लूट, दोस्त के घर पर रची थी साजिश-तीन गिरफ्तार

लखनऊ, । गोमतीनगर विस्तार क्षेत्र में गीतापुरी चौराहे पर स्थित गोल्ड हाउस ज्वैलरी शाप में हुई लूट नौकर प्रदीप रावत ने ही करवाई थी। उसने अपने दोस्त इमरान और संदीप के साथ मिलकर दो दिन पहले घटना की साजिश रची थी। रविवार को पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर, डीसीपी पूर्वी संजीव सुमन की क्राइमब्रांच और एसीपी गोमतीनगर श्वेता श्रीवास्तव के निर्देशन में लगी थाने की पुलिस ने घटना का राजफाश कर तीनों को गिरफ्तार कर लिया। उनके पास से लूट का सारा माल भी बरामद कर लिया गया है।एडीसीपी सैय्यद मोहम्मद कासिम आब्दी ने बताया कि प्रदीप रावत और संदीप रामआसरे पुरवा के रहने वाले हैं।उसका साथी इमरान गीतापुरी चौराहे पर ही रहता है। प्रदीप दो दिन पहले संदीप के घर पर रुका था और वहीं पर लूट की योजना बनाई थी। एसीपी गोमतीनगर श्वेता श्रीवास्तव ने बताया कि प्लान के तहत इमरान और संदीप कार से दुकान की पीछे की गली तक पहुंंचे। कार इमरान की थी।गली में पहुंचने पर पहले संंदीप कार से नीचे उतारा, फिर इमरान बुर्का पहनकर बैग लेकर निकला। इमरान सीधे दुकान पहुंचा। संदीप कार लिए गली में खड़ा रहा। दुकान पर प्रदीप माल निकाल कर स्टाक मिला रहा था। योजना के तहत इमरान अंदर घुसा और उसने सारा माल आनन फानन बैग में भरा। इसके बाद निकलकर पीछे गली में पहुंचा। संदीप और इमरान दोनों सारा माल लेकर कार से चले गए। इसके बाद प्रदीप ने मालिक को लूट की सूचना दी। तीनों के पास से लूट की सारी ज्वैलरी बरामद कर ली गई है।इंस्पेक्टर राजेश कुमार द्विवेदी ने बताया कि वारदात को अंजाम देते समय इमरान ने जो बुर्का और सूट पहना है वह उसकी मां का है। घर से बैग में मां का सूट और बुर्का रखकर लाया था। कार में बैठकर सूट और बुर्का पहना इसके बाद वारदात को अंजाम देकर भाग निकला।वारदात को अंजाम देने के बाद जब पुलिस पहुंची तो इस बीच इमरान और संदीप भाग निकले। दोनों ने सारा माल सुरक्षित स्थान पर रखा। इसके बाद इमरान बुर्का उतार कर फिर मोहल्ले में ही टहलने लगा था। इस दौरान पुलिस ने मोहल्ले के एक युवक की मदद से इमरान को धर दबोचा था। इमरान वारदात के समय जो जूते पहने थे वह पुरुषों के थे। युवक ने उस जूते से ही इमरान की पहचान कर पुलिस को बताया था। इसके बाद पड़ताल में जुटी पुलिस टीम ने कड़ी से कड़ी जोड़ी और प्रदीप को हिरासत में लिया। 24 घंटे के अंदर ही पुलिस ने संदीप को भी धर दबोचा और सारा माल बरामद कर लिया।