यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

एडिशनल प्राक्टर व डीन के बेटे पर कार्रवाई की मांग को लेकर अड़े स्‍टूडेंट्स


🗒 मंगलवार, सितंबर 07 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
एडिशनल प्राक्टर व डीन के बेटे पर कार्रवाई की मांग को लेकर अड़े स्‍टूडेंट्स

लखनऊ, । लखनऊ विश्वविद्यालय के नवीन परिसर में एडिशनल प्राक्टर को हटाने और डीन के बेटे के खिलाफ करवाई की मांग को लेकर हॉस्टल के छात्रों ने मंगलवार को विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। छात्रों का कहना है कि डीन के बेटे ने गाली गलौच की थी, प्रशासन ने करवाई का आश्वासन दिया था। लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई।दरअसल, नवीन परिसर में होमी जहांगीर भाभा ला हास्टल बना है। दो दिन पहले वहां के छात्रों ने खाने की खराब गुणवत्ता, पीने का पानी न मिलने सहित कई मांगों को लेकर धरना प्रदर्शन किया था। इस दौरान छात्रों ने गेट पर ताला भी लगा दिया था। तभी वहां से डीन प्रो. सीपी सिंह का बेटा गाड़ी लेकर निकलने लगा तो छात्रों से कहासुनी हो गई थी। छात्रों का आरोप था कि डीन के बेटे ने गाली गलौच की। बाद में डीन ने अपने बेटे की गलती मान कर माफी भी मंगवाई। लेकिन छात्र उसके खिलाफ करवाई की मांग को लेकर रात तक डटे रहे। छात्रों का कहना है कि विश्वविद्यालय प्रशासन ने करवाई के लिए कहा था। फिर भी कुछ नहीं किया। एडिशनल प्राक्टर प्रोफेसर मोहमद अहमद ने भी कोई करवाई नहीं की। इसलिए मंगलवार को छात्र धरने पर बैठ गए। इस दौरान छात्रों ने गेट पर भी ताला लगा दिया । लेकिन चीफ प्राक्टर को बुलाने का आश्वासन देकर गेट खुलवा दिया गया। छात्रों का कहना है कि अगर शाम तक चीफ प्राक्टर मांगों पर कोई कार्रवाई नहीं करेंगे तो फिर विरोध शुरू होगा।छात्रों की मांग पर विश्वविद्यालय ने हास्टल के प्रोवोस्ट प्रो. मोहम्मद अहमद ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था, लेकिन अभी उनके पास एडिशनल प्राक्टर का पद है। छात्र इस पद से भी इन्हें हटाने की मांग कर रहे हैं।लखनऊ यूनिवर्सिटी नवीन परिसर के एडिशनल प्रॉक्टर प्रो. मोहम्मद अहमद ने कहा कि छात्र मुझे पद से हटाने की मांग कर रहे हैं। फिलहाल मैंने गेट खुलवा दिया है।