यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

रजिस्ट्री में लगे अंगूठे का क्लोन बनाकर ठगी, तीन युवक ग‍िरफ्तार


🗒 बुधवार, सितंबर 08 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
रजिस्ट्री में लगे अंगूठे का क्लोन बनाकर ठगी, तीन युवक ग‍िरफ्तार

लखनऊ,  आइजीआरएस एवं जमीन की रजिस्ट्री में लगे दस्तावेज चोरी कर लाखों रुपये की ठगी करने वाले गिरोह का विभूतिखंड पुलिस ने राजफाश किया है। गिरोह में शामिल गोरखपुर के बांसगांव स्थित धनौरा खुर्द निवासी राजेश राय, संजय कुमार राय और रामसरन गाैड़ को गिरफ्तार किया गया है। आरोपित फिंगर प्रिंट की क्लोनिंग कर फर्जीवाड़ा करते थे। एसीपी विभूतिखंड अनूप कुमार सिंह के मुताबिक पकड़े गए आरोपितों के पास से दो लाख 98 हजार रुपये, 100 लोगों के अंगूठे का क्लोन, लैपटाप, सात मोबाइल फोन, केमिकल और कार बरामद की गई है।आरोपित फर्जी नाम से सिम खरीदते थे, जिसके जरिए ई-वालेट तैयार की जाती थी। आरोपितों के खिलाफ नौ फरवरी को एचपीएस इंफार्मेटिक कंपनी के निदेशक समीर कुमार ने एफआइआर दर्ज कराई थी। तीनों आरोपितों पर कंपनी के 40 लाख रुपये हड़पने का आरोप है। पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि रजिस्ट्री विभाग और आइजीआरएस वेबसाइट से फिंगर प्रिंट का डेटा चोरी कर उसका क्लोन तैयार करते थे। इसके बाद आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम के माध्यम से जनसेवा केंद्रों से रुपये निकालते थे।आरोपितों ने बताया कि गांव व कस्बाें में आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम के तहत लोग आधार कार्ड की मदद से अंगूठा लगाकर रुपये निकालते हैं। आठ माह पहले उन लोगों ने एचपीएस कंपनी में फर्जी वालेट बनाया था। इसके बाद ग्राहकों के अंगूठे के क्लोन की मदद से वालेट मेें रुपये मंगा लेते थे। इसके बाद राहुल और रामसरन जनसेवा केंद्रों पर जाकर रुपये निकाल लेते थे। आरोपितों ने बताया कि भूलेख वेबसाइट पर लोगों के आधार व अन्य दस्तावेज उपलब्ध हैं, जहां से उन्हें आसानी से जरुरी कागजात मिल जाते थे।