यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

कानपुर की तत्कालीन डीएमओ निलंबित


🗒 सोमवार, सितंबर 13 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
कानपुर की तत्कालीन डीएमओ निलंबित

लखनऊ । उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने शादी अनुदान योजना में कानपुर में हुई बड़े पैमाने पर गड़बड़ी के मामले में वहां की तत्कालीन जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी (डीएमओ) वर्षा अग्रवाल को निलंबित कर दिया है। वर्षा इस समय संभल में जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी के पद पर कार्यरत थीं। उन्हें अल्पसंख्यक कल्याण निदेशालय से संबद्ध कर दिया गया है। वहीं, पटल सहायक के रूप में काम देखने वाले वक्फ निरीक्षक नीरज मेहरोत्रा को भी निलंबित करने के आदेश निदेशालय को दिए गए हैं।शादी अनुदान योजना के तहत गरीब परिवारों को उनकी बेटियों की शादी के लिए सरकार 20 हजार रुपये का अनुदान देती है। कानपुर में इस योजना में बड़े पैमाने पर गड़बड़ी मिली थी। इस मामले में सरकार ने तत्कालीन जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी वर्षा अग्रवाल को निलंबित कर दिया है। वह 23 जुलाई, 2019 से आठ जुलाई, 2021 तक कानपुर में तैनात थीं।जिलाधिकारी की जांच में पाया गया कि उनके कार्यकाल में 72 अपात्रों को योजना का लाभ दिया गया। इस मामले में आवेदन पत्रों का सत्यापन करने वाले लेखपाल व कानूनगो पहले ही निलंबित किए जा चुके हैं। प्रमुख सचिव अल्पसंख्यक कल्याण के रविन्द्र नायक ने सोमवार को वर्षा अग्रवाल के निलंबन के आदेश जारी कर दिए। उन्हें अल्पसंख्यक कल्याण निदेशालय से संबद्ध कर दिया गया है। उन्होंने पटल सहायक नीरज मेहरोत्रा को भी निलंबित करने के आदेश दिए हैं। नीरज इस समय हरदोई में वक्फ निरीक्षक के पद पर तैनात हैं।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» उत्तर प्रदेश पुलिस 2009-10 के कैंडिडेट जिनको सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भी सरकार के कानो में नही रेंग रही जू

» लखनऊ मेट्रो में जल्द नजर आएंगे UPSSF के जवान

» इस बार नहीं अटकेगा 17 OBC जातियों को आरक्षण - संजय निषाद

» अपनी चिंता करें, बीजेपी के संपर्क में सपा के विधायक - भूपेंद्र चौधरी

» चार शातिर चोरों को पुलिस ने किया गिरफ्तार भेजा जेल

 

नवीन समाचार व लेख

» मुख्य सचिव ने भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) द्वारा प्रदेश में संचालित परियोजनाओं की वीसी के माध्यम से की समीक्षा

» पुलिस की तेजी से दुराचारी को मिली बाईस वर्ष की सजा

» मजिस्ट्रीरियल जांच सम्बन्धी साक्ष्य/बयान 07 से 22 अक्टूबर के मध्य तक दें

» आगामी पर्वों पर मिलावटी खाद्य एवं पेय पदार्थों के विक्रय पर प्रभावी रोकथाम के लिए 22 नमूनें प्रयोगशाला में जांच के लिए भेजे गये

» जिला पर्यटन एवं संस्कृति परिषद रायबरेली के सदस्य के लिए करें आवेदन