यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

युवक की गला काटकर हत्या, एक सप्ताह बाद जंगल में मिला शव


🗒 मंगलवार, सितंबर 14 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
युवक की गला काटकर हत्या, एक सप्ताह बाद जंगल में मिला शव

लखनऊ, । राजधानी के गोसाईगंज के सेमनापुर गांव में एक युवक की गला काट कर हत्या कर शव को जंगल में फेंक दिया गया। युवक का सड़ चुका शव एक सप्ताह बाद जंगल में पड़ा मिला। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। जहां पर शव मिला वहीं पर एक पेड़ से गमछा बंधा हुआ म‍िला। इससे आशंका है कि हत्यारों ने पहले शव को लटका कर आत्महत्या साबित करने की कोशिश की, लेकिन फिर सिर काट दिया। सिर कुछ दूरी पर पड़ा मिला। सेमनापुर गांव निवासी रामपाल का पुत्र प्रमोद कुमार [24] करीब एक सप्ताह से लापता था। घर के लोग उसकी तलाश कर रहे थे।मंगलवार को प्रमोद का सड़ा गला शव गांव के बाहर जंगल में पड़ा मिला। उसका सिर धड़ से अलग कुछ दूरी पर पड़ा था। पास के पेड़ पर एक गमछा बंधा हुआ था। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। बताया गया है कि प्रमोद एक सप्ताह से घर से लापता था। परिवारीजन उसकी तलाश रिश्तेदारियों में कर रहे थे। बताया जा रहा है कि युवक नशे का आदी था। उसकी हत्या किसने और क्यों की इसकी जांच पुलिस ने शुरू कर दी है। आशंका है कि युवक की हत्या जंगल में ही की गई है। उसका सिर धड़ से करीब दो मीटर की दूरी पर पड़ा था। पेड़ में गमछा बंधा होने से आशंका व्यक्त की जा रही है कि हत्यारों ने आत्महत्या का रूप देने के लिए गमछा पेड़ से बांधा होगा, लेकिन फिर गला काट कर हत्या कर दी। मृतक की चप्पलें भी पास में ही रखी मिली।प्रधान प्रतिनिधि आदित्य वर्मा ने बताया कि जंगल की ओर लोगों का आना जाना कम होता है। परिवार वालों ने पुलिस को बताया कि इसके पहले भी प्रमोद एक दो बार गायब हो चुका था। इसलिए पुलिस को सूचना न देकर उसकी तलाश की जा रही थी। इंस्‍पेक्टर अमरनाथ वर्मा ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। उनका कहना था कि मृतक की गुमशुदगी की सूचना कोतवाली में नहीं दी गई थी।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» लखनऊ की थप्‍पड़ गर्ल के बाद लात-घूसों वाला युवक

» दो दिन की बच्ची को सड़क पर छोड़कर भागे बाइक सवार, शांति ने दौड़कर लगाया सीने से

» अंक सुधार परीक्षा को लेकर गाइडलाइन जारी

» विदेश में भी सीएम योगी आदित्यनाथ के कोविड प्रबंधन के प्रशंसक

» बुलडोजर करा ले अपना चुनाव चिन्ह, सूट नहीं करता कमल - अखिलेश