यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

आक्सीजन प्लांट लगवाने के नाम पर लाखों की ठगी


🗒 मंगलवार, अक्टूबर 12 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
आक्सीजन प्लांट लगवाने के नाम पर लाखों की ठगी

लखनऊ, । जालसाजों ने आक्सीजन प्लांट लगवाने के नाम पर रकाबगंज में रहने वाली व्यवसायी संगीता जायसवाल से 27 लाख रुपये ठग लिए। संगीता ने गुजरात की क्रायो सेल्स कंपनी के खिलाफ वजीरगंज कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया है। वहीं, खुद को बाराबंकी में तैनात एक अफसर का रिश्तेदार बताने वाले जालसाज ने रियल इस्टेट व्यापारी से डेढ़ लाख रुपये ठगे।इंस्पेक्टर वजीरगंज धनंजय पांडेय के मुताबिक संगीता पत्नी राजेश जायसवाल का राजाजीपुरम में आक्सीजन प्लांट है। उन्होंने बताया कि उनके परिचित रामजी यादव घर आते जाते हैं। उन्होंने गुजरात की क्रायो सर्विस कंपनी के साथ मिलकर काम करने को कहा। उनके माध्यम से कंपनी के अधिकारियों से बात हुई। कंपनी ने प्लांट लगवाने के लिए रुपयों की मांग की और 25 फीसद मुनाफा देने को कहा। इस पर कंपनी के खाते में 27 लाख रुपये दिए। रुपये लेने के बाद भी कंपनी ने प्लांट नहीं लगवाया। विरोध पर कंपनी के लोगों ने कहा कि आपको आपका शेयर मिल जाएगा। इसके बाद 25 फीसद शेयर भी नहीं दिया। रुपयों की मांग की तो धमकाने लगे। इसके बाद राजजी यादव और क्रायो कंपनी के खिलाफ शिकायत कर मुकदमा दर्ज कराया।सरोजनीनगर इंस्पेक्टर के मुताबिक विपुलखंड निवासी आशीष पटेल रियल इस्टेट कंपनी चलाते हैं। उन्होंने बताया कि एक एनजीओ के माध्यम से आशीष सिंह से उनकी मुलाकात हुई। आशीष सिंह जियामऊ में रहते हैं। आशीष पटेल के मुताबिक उन्हें बाराबंकी आवास विकास परिषद से दिव्यांगों के लिए ट्राइसाइकिल सप्लाई का ठेका मिला था। आशीष सिंह ने खुद को बाराबंकी में तैनात एक अफसर का रिश्तेदार बताकर कहा कि वह ट्राइसाइकिल की सप्लाई का दिलवा देंगे। इस पर उन्होंने डेढ़ लाख रुपये ले लिए। रुपये लेने के बाद आशीष सिंह ने फोन रिसीव करना बंद कर दिया। आशीष सिंह के साथ जालसाजी में भगौती प्रसाद, सुनील वर्मा और आकाश सिंह समेत चार अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया।