यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

घर पर नोटिस चस्‍पा होने के बाद SIT के सामने किया सेरेंडर


🗒 बुधवार, अक्टूबर 13 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
घर पर नोटिस चस्‍पा होने के बाद SIT के सामने किया सेरेंडर

लखनऊ, । लखीमपुर खीरा कांड में आरोपित पूर्व केंद्रीय मंत्री अखिलेश दास के भतीजे अंकित दास के लखनऊ के सदर पुराना किला स्थित आवास पर एसआइटी ने सफीना नोटिस चस्पा किया था। एसआइटी ने अंकित दास को बुधवार को लखीमपुर स्थित क्राइम ब्रांच के दफ्तर में बयान दर्ज कराने का आदेश दिया है। इस बीच अंकित दास लखीमपुर खीरी पहुंचें। उन्‍होंने एसआइटी के सामने सेरेंडर किया। जिसके बाद उन्‍हें और उनके ड्राइवर लतीफ को गिरफ्तार कर लिया गया। उनसे पुलिस लाइन स्थित क्राइम ब्रांच के दफ्तर में पूछताछ की जा रही है। एसआइटी उनके ड्राइवर लतीफ से भी पूछताछ कर रही है। लखीमपुर हिंसा में अब तक मंत्री पुत्र आशीष मिश्रा मोनू के बाद उसके मित्र अंकित दास के ड्राइवर शेखर भारती को एसआइटी ने मंगलवार को गिरफ्तार किया था। इसके अलावा केस में किसानों ने आशीष मिश्रा मोनू के साथ अज्ञात 15 लोगों को नामजद किया है।बुधवार की सुबह करीब 10:15 बजे लखनऊ के कांटेक्टर अंकित दास कई वकीलों के साथ लखीमपुर पहुंचे और पुलिस लाइन में एसआईटी के सामने पेश हुए। कुछ देर के बाद उन्हें खीरी कांड में आरोपी मानते हुए एसआईटी ने गिरफ्तार कर लिया। एसआईटी करीब 4 घंटे से अंकित दास से पूछताछ कर रही है माना जा रहा है कि लंच के बाद अंकित दास को सीजेएम की अदालत में पेश किया जाएगा। लखीमपुर खीरी कांड में वायरल हुए कई वीडियो में अंदेशा जताया जा रहा था कि उस काफिले में अंकित दास भी मौजूद थे जिसने इस घटना में किसानों को रौंदा जिसके बाद उनकी तलाश एसआईटी सरगर्मी से कर रही थी। शुरुआती पूछताछ में मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा का सहयोगी इनको बताया जा रहा है।उधर एक दिन पहले अदालत में पेश किए गए अंकित दास के ड्राइवर शेखर भारती को अभियोजन पक्ष ने पुलिस रिमांड पर लेने की अर्जी सीजेएम की अदालत में दाखिल की है जिस पर दोनों पक्षों की ओर से बहस की जा चुकी है सूत्रों ने बताया कि दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद सीजेएम ने फैसला सुरक्षित कर लिया है कुछ देर बाद यह फैसला सुनाया जाएगा कि अंकित दास के ड्राइवर से पूछताछ के लिए अदालत ने कितने दिनों की रिमांड मंजूर की है कुल मिलाकर लखीमपुर खीरी कांड में अब तक केंद्रीय मंत्री के बेटे आशीष मिश्र मोनू समेत छह लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है और इस मामले में करीब आधा दर्जन और लोगों की गिरफ्तारी होना बाकी है।लखीमपुर कांड में मारे गए चार किसानों के मामले में अंकित के खिलाफ साजिश, हत्या, गैर इरादतन हत्या, बलवा समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज है। मामले में अंकित के कार चालक शेखर को एसआइटी ने पलिया बस स्टैंड से मंगलवार को गिरफ्तार किया था। बताया जा रहा है कि वह नेपाल भागने की फिराक में था। एसआइटी ने शेखर को कोर्ट में पेश करने के बाद न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया था। वहीं, मामले में अंकित दास फरार चल रहे हैं।खीरी कांड में आरोपित अंकित दास और लतीफ ने न्यायालय में आत्मसमपर्ण की अर्जी डाली थी। कोर्ट ने इस मामले में थाना तिकुनिया से रिपोर्ट भी तलब की है और वहीं अर्जी पर सुनवाई की तारीख 14 अक्टूबर तय की है।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» छह वर्षों तक किशोरी से होता रहा दुष्कर्म; 28 के खिलाफ FIR

» आशीष मिश्र की जमानत अर्जी सीजेएम कोर्ट ने की खारिज

» नहर में उतराया मिला दो दिन पुराना युवक का शव

» पुरानी रंजिश को लेकर भाई ने अपने सगे भाई को मारा-पीटा

» दिल्ली में आतंकी पकड़े जाने पर उत्तर प्रदेश में अलर्ट