यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

पूर्वांचल एक्सप्रेस वे पर कल पीएम मोदी की लैंडिंग


🗒 सोमवार, नवंबर 15 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
पूर्वांचल एक्सप्रेस वे पर कल पीएम मोदी की लैंडिंग

लखनऊ, । मंगलवार की सुबह पूर्वाचल के लिए मंगल संदेश लेकर आएगी। तुलनात्मक रूप से पिछड़े रहे पूरब के इस अंचल के उम्मीदों की नई भोर हो रही है। पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के रूप में जो नया प्रगति पथ योगी सरकार ने तैयार किया है, उसका लोकार्पण करने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सुलतानपुर पहुंच रहे हैं। प्रदेश को सरकार का यह उपहार मिलते ही इस अंचल के छोटे-छोटे जिलों की दिल्ली से दूरी घट जाएगी। उत्‍तर प्रदेश में अवस्थापना सुविधाओं पर जोर देते हुए योगी सरकार ने पूर्वांचल एक्सप्रेसवे, बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे, गोरखपुर ¨लक एक्सप्रेसवे और गंगा एक्सप्रेसवे बनाने की घोषणा की। जुलाई, 2018 में प्रधानमंत्री मोदी ने आजमगढ़ से इस महत्वाकांक्षी परियोजना की आधारशिला रखी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी वायुसेना के सी-130जे सुपर हरक्युलिस ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट से एक्सप्रेसवे पर बनाई गई हवाई पट्टी पर ही उतरेंगे।लखनऊ से गाजीपुर तक 340.824 किलोमीटर का यह एक्सप्रेसवे बनकर तैयार है। सोमवार को लोकभवन में पत्रकारों से बातचीत में उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीडा) के मुख्य कार्यपालक अधिकारी अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि एक्सप्रेसवे का लोकार्पण मंगलवार को पीएम मोदी सुलतानपुर के कूरेभार स्थित एक्सप्रेसवे की हवाई पट्टी से करेंगे। साथ ही जनसभा को भी संबोधित करेंगे। उनका कहना था कि यह प्रोजेक्ट बहुत चुनौतीपूर्ण था। तमाम निचले इलाकों में पानी भर जाता है। इधर, कोरोना संक्रमण की वजह से भी काम प्रभावित हुआ, लेकिन काम को रोका नहीं गया। पूरी सावधानी से साथ निर्माण कार्य जारी रखा। उसी का नतीजा है कि तय समय सीमा में एक्सप्रेसवे बनकर तैयार है।अवस्थी ने बताया कि एक्सप्रेसवे के दोनों किनारों पर औद्योगिक गलियारे बनाए जाएंगे। यहां विभिन्न प्रकार के उद्योग स्थापित होंगे। लाजिस्टिक सुविधा बेहतर होने से स्थानीय कारोबारियों, छोटे व्यापारियों आदि को भी लाभ होगा। वहीं, पूर्वांचल के छोटे-छोटे जिलों से अब लखनऊ और दिल्ली की दूरी घट गई है। दस घंटे का सफर महज साढ़े तीन से चार घंटे में तय किया जा सकेगा। उन्होंने बताया कि यह एक्सप्रेसवे बिहार की सीमा तक है, इसलिए इसका लाभ बिहार के सीमावर्ती जिलों को भी सीधे मिल सकेगा। दावा किया कि यह एक्सप्रेसवे पूर्वांचल के विकास के लिए रीढ़ की हड्डी साबित होगा।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» देवा शरीफ ट्रस्ट के खिलाफ जिला जज को दें अर्जी

» सीएम योगी बांटेंगे एडेड कालेज के शिक्षकों को नियुक्ति पत्र

» आशीष मिश्रा सहित तीन की जमानत अर्जी खार‍िज

» दुधमुंही समेत दो बच्चियों से दरिंदगी; आरोपितों गिरफ्तार

» जालसाजों ने बनाई यूपीएमआरसी की फर्जी वेबसाइट

 

नवीन समाचार व लेख

» पूर्वांचल एक्सप्रेस वे पर कल पीएम मोदी की लैंडिंग

» प्रेमी के साथ मिलकर की थी पति की हत्या

» गाड़ियों के यार्ड में डाका डालने वाले गिरोह का भंडाफोड़, तीन गिरफ्तार

» पेट्रोल पंप पर युवकों का उत्पात, तोड़फोड़, मारपीट, नकदी लूटी

» प्रतापगढ़ में पांच करोड़ रुपये की डीएपी का गबन, भंडार नायक निलंबित