यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

पीएम नरेन्द्र मोदी आल इंडिया डीजीपी कॉन्फ्रेंस में हुए शामिल


🗒 शनिवार, नवंबर 20 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
पीएम नरेन्द्र मोदी आल इंडिया डीजीपी कॉन्फ्रेंस में हुए शामिल

लखनऊ, । उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में के तीन दिवसीय दौरे पर आए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी देश की आंतरिक सुरक्षा पर केंद्रित 56वें अखिल भारतीय पुलिस महानिदेशक व महानिरीक्षक सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए शनिवार सुबह पुलिस मुख्यालय पहुंचे। डीजीपी कॉन्फ्रेंस देर शाम तक चलेगी। प्रधानमंत्री लंच और डिनर डीजीपी मुख्यालय में ही करेंगे। पीएम मोदी के अलावा गृह मंत्री और दोनों गृह राज्य मंत्री कॉन्फ्रेंस में मौजूद हैं। यूपी में पहली बार आयोजित हो रहे इस सम्मेलन में नक्सलवाद, आतंकवाद और माफिया तत्वों पर प्रभावी अंकुश लगाने के उपायों पर चर्चा हो रही है।प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी उत्तर प्रदेश पुलिस मुख्यालय में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल की मौजूदगी में आंतरिक सुरक्षा के खतरों से लेकर आतंकवाद पर अंकुश के मुद्दों पर विचार विमर्श कर रहे हैं। डीजीपी सम्मेलन में प्रधानमंत्री के सामने कई प्रस्तुतिकरण भी होंगे। इसमें राज्यों में आधुनिक पुलिसिंग के लिए उठाए गए कदमों की भी जानकारी दी जाएगी। शाम सात बजे तक प्रधानमंत्री अलग अलग सत्र में लेंगे हिस्सा।बता दें राजधानी के गोमतीनगर विस्तार स्थित पुलिस मुख्यालय में शुक्रवार से आयोजित तीन दिवसीय अखिल भारतीय पुलिस महानिदेशक/महानिरीक्षक सम्मेलन का केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शुभारंभ किया है। गृहमंत्री ने राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के डीजीपी, केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों व केंद्रीय पुलिस संगठनों के प्रमुखों के साथ तटीय सुरक्षा, वामपंथी उग्रवाद, नारकोटिक्स, साइबर क्राइम तथा सीमा प्रबंधन जैसे सुरक्षा से जुड़े मुद्दों पर विचार विमर्श किया और इन विषयों पर गंभीरता से ध्यान केंद्रित करने का निर्देश दिया।उत्तर प्रदेश में पहली बार पुलिस महानिदेशक/महानिरीक्षक के 56वें वार्षिक सम्मेलन आयोजित हो रहा है। सम्मेलन में विभिन्न राज्यों के पुलिस महानिदेशकों को शामिल कर अनेक कोर ग्रुप गठित किए गए। सम्मेलन में चर्चा किए जाने वाले समसामयिक सुरक्षा मुद्दों पर राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों के 200 से अधिक वरिष्ठ अधिकारियों से उनके विचार मांगे गए। 350 से अधिक वरिष्ठ अधिकारी विभिन्न राज्यों में स्थित आइबी कार्यालयों से वर्चुअल माध्यम से सम्मेलन का हिस्सा बने। केंद्रीय गृह मंत्री ने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों से कहा कि वे सम्मेलन में दिए गए सुझावों पर समयबद्ध ढंग से अमल करें।