यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

पत्नी से विवाद के बाद बच्चों की हत्या कर फांसी पर झूला युवक


🗒 शनिवार, दिसंबर 04 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
पत्नी से विवाद के बाद बच्चों की हत्या कर फांसी पर झूला युवक

लखनऊ, । मामूली विवाद के बाद आजकल लोग परिवार को भी खत्म करने से नहीं हिचक रहे हैं। बीते 24 घंटे में तीन शहरों में तीन परिवार खत्म हो गए। कानपुर में शुक्रवार को तो शनिवार को महोबा और शामली में दर्दनाक मामले सामने आए हैं। महोबा में सुबह एक महिला तीन बच्चों की हत्या करने के बाद फांसी पर झूल गई तो शाम को शामली में एक युवक ने पत्नी से विवाद के बाद दो बच्चों की हत्या कर अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली।शामली के झिंझाना क्षेत्र में एक युवक ने दो बच्चों को फांसी देकर मौत के गले लगा लिया। पत्नी से विवाद के बाद युवक ने आज यह कदम उठाया है। कुड़ाना निवासी सवित पुत्र रामकिशन का पिछले दिनों से अपनी पत्नी के साथ विवाद चल रहा था। इस दौरान सवित अपने दो बच्चों (एक बेटा-एक बेटी) को लेकर वह घर से चला गया। इसके बाद झिंझाना क्षेत्र में जाकर पहले दोनों बच्चों को फांसी लगा दी। उनकी मौत के बाद खुद भी फांसी के फंदे पर झूल गया। इस घटना की जानकारी मिलते ही क्षेत्र में खलबली मच गई। पुलिस मौके पर पहुंच तो मृतक के भाई मुकेश ने बताया कि 29 नवंबर को भाई रात में अपने दोनों बच्चे पुत्र लक्ष्य आठ वर्ष तथा पुत्री लक्षी पांच को घर से लेकर चला गया था। वह अपनी पत्नी के साथ दूसरे मकान पर रहता था। मुकेश ने कोतवाली में भाई की गुमशुदगी भी दर्ज करा रखी है। पत्नी के साथ विवाद के बारे में उनके भाई को भी कोई जानकारी नहीं है। उसकी पत्नी पेरिस 30 दिसंबर मायके छपरौली चली गई थी। 2013 में सवित की शादी पेरिस से हुई थी।इससे पहले सुबह महोबा में अंदर से बंद मकान में मां और तीन बच्चों के शव मिले। कुलपहाड़ के कठवरिया मुहल्ले में अंदर से बंद मकान के अंदर एक ही कमरे में मां फंदे पर लटकी मिली, उसके तीन बच्चों के शव वहीं पास में पड़े मिले। बच्चों की गला रेत कर हत्या की गई है। कठवरिया मोहल्ला के रहने वाले कल्याण सिंह मजदूरी और खेती करते हैं। शुक्रवार रात खेतों में पानी लगाना था, इसलिए वह शाम को ही घर से खाना खाकर खेत चले गए थे। सुबह लौटे तो अंदर से दरवाजा बंद मिला। काफी देर तक कोई आवाज न मिलने पर वह पड़ोस के मकान से घर के अंदर गए। वहां कमरे में कुंडे से फंदे पर उसकी पत्नी 33 वर्षीय सोनम का शव लटका था। पास में कुछ दूर उसके पुत्र 11 वर्षीय विशाल, नौ साल की आरती, सात साल की अंजली के शव खून से लथपथ पड़े थे। बच्चों का गला रेता गया था।इस घटना की जानकारी पर सीओ तेज बहादुर सिंह, कुलपहाड़ कोतवाली प्रभारी उमेश कुमार फोर्स के साथ पहुंचे। सीओ ने कहा कि पति से जानकारी की जा रही है। प्रथम दृष्टया महिला ने पहले बच्चों की हत्या की खुद जान दे दी है, फिलहाल सभी बिंदुओं की जांच हो रही है।