यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

लखनऊ में ठेकेदार के सिर में गोली मारकर हत्या


🗒 रविवार, दिसंबर 12 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
लखनऊ में ठेकेदार के सिर में गोली मारकर हत्या

लखनऊ, । कृष्णानगर के विजयनगर इलाके में रविवार रात सरेशाम बाइक सवार बदमाशों ने ठेकेदार महेंद्र प्रताप की सिर में गोली मारकर हत्या कर दी। इसके बाद फायरि‍ंग करते हुए भाग निकले। ठेकेदार की हत्या की सूचना पर डीसीपी सेंट्रल डा. ख्याति गर्ग और इंस्पेक्टर कृष्णानगर आलोक राय भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और जायजा लिया। पुलिस को मौके से एक खोखा और दो कारतूस, ठेेकेदार की बाइक, पर्स और मोबाइल फोन मिला है, जिसे कब्जे में ले लिया है। पुलिस के अनुसार बदमाशों ने दो से तीन राउंड फायरि‍ंग की है। हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए कई टीमें गठित की गई हैं। इसके साथ ही हत्या में ठेकेदारी, लेन-देन समेत कई बि‍ंदुओं पर पड़ताल की जा रही है।विजयनगर में अनिल शुक्ला का मकान है। उन्होंने कुछ दिन पहले असलम नाम के ठेकेदार को मकान तोड़वाने का ठेका दिया था। इंस्पेक्टर कृष्णानगर के मुताबिक महेंद्र हरदोई रोड बसंतकुंज योजना के पीरनगर के रहने वाले थे। रविवार शाम करीब 5:30 बजे असलम के साथी महेंद्र प्रताप मकान तोड़वा रहे थे। साइट पर मजदूर भी लगे थे। महेंद्र देखरेख कर रहे थे। इसी बीच बाइक सवार दो बदमाश पहुंचे। उन्होंने महेंद्र पर ताबड़तोड़ फायरि‍ंग की और भाग निकले। सिर में गोली लगने से महेंद्र मौके पर ही गिर पड़े। उन्हें लोकबंधु ले जाया गया। वहां, डाक्टरों ने महेंद्र को मृत घोषित कर दिया।घटना की जानकारी महेंद्र के परिवारजन को दी गई। सूचना मिलते ही पुलिस बल मौके पर पहुंचा। पुलिस अनिल से पूछताछ कर रही है। वहीं, बदमाश घटनास्थल से कुछ दूरी पर लगे एक सीसी कैमरे में कैद हो गए हैं। फुटेज के आधार पर उनकी तलाश में दबिश दी जा रही है। फोरेंसिक टीम ने घटनास्थल का निरीक्षण किया। हत्यारों का सुराग लगाने के लिए साक्ष्य जुटाए जा रहे हैं। डीसीपी डा. ख्याति गर्ग ने बताया कि फुटेज के आधार पर बदमाशों की तलाश की जा रही है। सर्विलांस और क्राइम ब्रांच समेत कई टीमें बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए लगाई गई हैं।पुलिस को महेंद्र के पास से दो आधार कार्ड मिले हैं। एक सआदतगंज के हाता नूर बेग और दूसरा काकोरी के पते पर है। महेंद्र रहते कहां पर थे, इस बात की पुष्टि देर शाम तक नहीं हो सकी थी। महेंद्र ने दो आधार कार्ड क्यों बना रखे थे, इसकी भी जांच हो रही है।पुलिस ने घटना की जानकारी महेंद्र के परिवारजन को दी। सूचना के तीन से चार घंटे बाद भी घर का कोई सदस्य पुलिस के पास नहीं पहुंचा। परिवार वाले महेंद्र की मौत के संबंध में बात करने से कतराते रहें। महेंद्र घरवालों से अलग रहते थे। पुलिस को आशंका है कि महेंद्र के परिवार में भी कुछ विवाद चल रहा था।सीसी कैमरे में कैद बदमाश बाइक पर बैठे दिख रहे हैं। बाइक चला रहे बदमाश ने हेलमेट पहना था और नीले रंग की जींस की जैकेट और पीली पैंट पहने है। वहीं, पीछे बैठे बदमाश ने गाजरी रंग की जैकेट पहन रखी है। जैकेट की टोपी उसने लगा रखी है। फुटेज के आधार पर पुलिस बदमाशों की तलाश कर रही है।