यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

भारी बारिश से तबाह हुये मकानो की छतिपूर्ति के लिए सौपा ज्ञापन


🗒 बुधवार, अक्टूबर 12 2022
🖋 रजत तिवारी, बुंदेलखंड सह संपादक बुंदेलखंड
भारी बारिश से तबाह हुये मकानो की छतिपूर्ति के लिए सौपा ज्ञापन

परिचय- एसडीएम को ज्ञापन सौपते बुन्देलखण्ड किसान यूनियन के पदाधिकारी।

चरखारी/महोबा। विगत कई दिनों से हो रही अतिवृष्टि के परिणाम स्वरूप नगर एवं ग्रामीण क्षेत्रों के आवासीय मकान धराशाई हो रहे हैं, किसानों की फसलें भी पूरी तरह नष्ट हो चुकी हैं, जिससे किसानों की आर्थिक स्थिति दिनों दिन बेहद खराब हो रही है, इस प्राकृतिक आपदा से शासन द्वारा किसानों को राहत पहुंचाने के उद्देश्य से बुंदेलखंड किसान यूनियन द्वारा आज तहसील चरखारी में उप जिलाधिकारी चरखारी श्वेता पांडे को एक ज्ञापन दिया गया, जिसमें कहा गया है की अतिवृष्टि से किसानों की फसलें तबाह होने के साथ उनके कच्चे मकान भी जमींदोज हो चुके हैं और पशुओं की भी हालत खराब है, जनपद महोबा के संपूर्ण शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र में बहुत नुकसान हुआ है, ज्ञापन के माध्यम से शासन द्वारा क्षति पूर्ति दिलाए जाने की मांग की गई है, उपजिलाधिकारी चरखारी श्वेता पांडे द्वारा बुंदेलखंड किसान यूनियन के पदाधिकारियों को अवगत कराया गया कि सारे लेखपाल क्षेत्र में सर्वे हेतु भेजे गए हैं, यथाशीघ्र आपदा राहत कोष से क्षतिपूर्ति दिलाए जाने का कार्य आरंभ किया जाएगा, ज्ञापन देने के समय बुंदेलखंड किसान यूनियन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रामकिशन शर्मा व प्रदेश उपाध्यक्ष योगेश पाठक उपस्थित रहे।

महोबा से अन्य समाचार व लेख

» लगातार बारिश से हुयी अव्यवस्थाओ को जायजा लेने पहुंचे डीएम

» नाबालिग के अपहरण का प्रयास करने वाले को परिजनो ने दबोचा

» रपटा पर पानी होने से चरखारी राठ मार्ग हुआ बन्द

» अपनी मांगो को लेकर कर्मचारी जल्द करेंगे देशव्यापी हड़ताल

» जीर्णोद्धार पर हावी भ्रष्टाचार को देखकर फूटने लगा बुन्देलो का गुस्सा

 

नवीन समाचार व लेख

» भारी बारिश से तबाह हुये मकानो की छतिपूर्ति के लिए सौपा ज्ञापन

» नाबालिग के अपहरण का प्रयास करने वाले को परिजनो ने दबोचा

» रपटा पर पानी होने से चरखारी राठ मार्ग हुआ बन्द

» अपनी मांगो को लेकर कर्मचारी जल्द करेंगे देशव्यापी हड़ताल

» जीर्णोद्धार पर हावी भ्रष्टाचार को देखकर फूटने लगा बुन्देलो का गुस्सा