महोबा- जनपद के मेधावी ने लहराया सफलता का परचम

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

महोबा- जनपद के मेधावी ने लहराया सफलता का परचम


🗒 शुक्रवार, फरवरी 21 2020
🖋 रजत तिवारी, बुंदेलखंड सह संपादक बुंदेलखंड

जेई सिविल भर्ती में प्राप्त की तीसरी रैंक

महोबा- जनपद के मेधावी ने लहराया सफलता का परचम

महोबा। जनपद की एक प्रतिभा ने सफलता का नवीन मापदण्ड तय करते हुये उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग इलाहाबाद द्वारा आयोजित जेई सिविल भर्ती में तीसरी रैंक प्राप्त कर जनपदवासियों, गुरूजनों व अपने माता पिता का नाम रोशन किया है। उनकी इस सफलता से समूचे जनपदवासियों में खुशी व्याप्त है। विकासखण्ड कबरई के ग्राम पिपरामाफ निवासी नीरज सक्सेना पुत्र दीपचन्द्र सक्सेना ने यूपीपीएससी जेई सिबिल में तीसरी रैंक प्राप्त की है। वर्तमान में मिलिट्री इंजीनियरिंग सर्विस (एमईएस) में कार्यरत नीरज ने प्राईमरी शिक्षा गांव से प्राप्त करने के बाद सिविल इंजीनियरिंग का डिप्लोमा 2010 में प्राप्त करने के पश्चात 2013 में सिविल इंजीनियरिंग की डिग्री प्राप्त की। 2018 में उनका चयन मिलिट्री इंजीनियरिंग सर्विस में हो गया। जिसमें वह वर्तमान में नोएडा में कार्यरत है। ग्रामीण पृष्ठभूमि के नीरज सक्सेना के पिता दीपचन्द्र केन्द्रीय जल आयोग में कुशल सहायक के पद पर कार्यरत है तथा उनकी माता जी एक गृहणी है। नीरज अपनी सफलता का श्रेय अपने गुरूजनों, माता पिता व अपने चाचा अशोक सक्सेना को देते हैं। जो कि सिंचाई विभाग झांसी में सहायक अभियन्ता के पद पर कार्यरत है। नीरज ने बताया कि उनका अगला लक्ष्य आईईएस या आईएएस में सफलता प्राप्त कर देश व समाज की सेवा करना है। नीरज की इस कामयाबी से उनका गांव  में खुशी की लहर व्याप्त है। नीरज ने प्रतियोगी परीक्षार्थियों को सलाह देते हुये कहा कि किताबों से अध्ययन करने के उपरान्त अपने स्वयं के नोट बनाकर तैयारी करे, इससे सफलता आप लोगों के कदम चूमेगी।

महोबा से अन्य समाचार व लेख

» महोबा -पुलिस कर्मी की बाइक से गिरने से मौत, 1 घायल

» महोबा - कसौरा टोरी के दर्जन भर से अधिक लोगों पर दर्ज हुआ मुकदमा

» महोबा - कोरोना अलर्ट: प्रवासी कामगारों का धैर्य बढ़ाएं, आगे की राह सुझाएं

» महोबा -जरूरतमंद भोजन एवं राशन प्राप्ति हेतु नोडल अधिकारी को करें कॉल - डीएम

» महोबा -एसके महाविद्यालय के प्राचार्य ने विद्यार्थियों से करी अपील

 

नवीन समाचार व लेख

» कविता -हे जीवन पथ के राहगीर तू.....

» बांदा -UP lockdown 15 अप्रैल से कुछ शर्तों के साथ खुल सकता है लॉकडाउन, जानें क्या है सरकार की मंशा

» बांदा -LOCK DOWN के चलते लाला घनश्याम सिंह ने क्ई परिवारों कों दिया अन्न

» यूपी कोविड केयर फंड में सीएम योगी आदित्यनाथ ने दिया एक माह का वेतन और एक करोड़ रुपये

» सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा-15 से लॉकडाउन में ढील के दौरान नहीं बढ़ने देंगे भीड़