यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

महोबा -किसान सम्मान निधि का लाभ लेने किसान बनवाएं निःशुल्क केसीसी - जिलाधिकारी


🗒 शनिवार, फरवरी 22 2020
🖋 रजत तिवारी, बुंदेलखंड सह संपादक बुंदेलखंड

किसान प्राप्त कर सकेगें केसीसी के तहत 160000 तक का ऋण

महोबा -किसान सम्मान निधि का लाभ लेने किसान बनवाएं निःशुल्क केसीसी - जिलाधिकारी

महोबा, मोहम्मद आजाद चैधरी। किसानो की आर्थिक समस्या को दूर करने तथा ऋण के लिए लगाने वाले अनेको चक्करो से छुटकारा दिलाने हेतु प्रशासन ने आसानी से ऋण प्राप्त करने योजना चलायी है। जिसकी जानकारी जिलाधिकारी अवधेश कुमार तिवारी बताया कि जिले के किसान अब बिना किसी गारंटी के केसीसी के तहत एक लाख साठ हजार रुपये तक का ऋण प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए ऋण की प्रक्रिया को अत्यंत ही सरल बना दिया गया है। खास बात यह है कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के सभी लाभार्थी अब बिना किसी गारंटी के ही ऋण प्राप्त कर सकते हैं। यही नहीं किसान यदि समय से ऋण चुकता कर देते हैं तो उन्हें तीन लाख रुपये तक का ऋण सिर्फ चार फीसद ब्याज पर मिल सकेगा। उन्होंने बताया कि किसानों की आय दोगुना करने, साहूकारों के चंगुल से छुड़ाने के लिए यह व्यवस्था सरकार द्वारा लागू की गई है। भारत सरकार व कृषि तथा किसान कल्याण मंत्रालय के निर्देशानुसार सभी किसानों को निःशुल्क क्रेडिट कार्ड निर्गत किया जाना है। डीएम ने जिला  कृषि अधिकारी को निर्देशित किया है एक अभियान के तहत जनपद के सभी किसानों को संतृप्त करना है। डीएम ने बताया है कि जो भी किसान पीएम किसान सम्मान निधि योजना के लाभार्थी हैंै। वे आधार कार्ड, खसरा और खतौनी की फोटो प्रति लेकर नजदीकी बैंक शाखा से संपर्क कर सकते हैं या लेखपाल के माध्यम से तहसील में आवेदन जमा कर निःशुल्क केसीसी बनवा सकते हैं। उन्होंने ये भी बताया कि जिन किसानों ने पहले से केसीसी बनवा रखा है और उनका खाता निष्क्रिय हो चुका है वे भी अपना खाता सक्रिय करा सकते हैं। साथ ही ऋण सीमा को भी बढ़ाया जा सकता है। उन्होंने बताया कि उपरोक्त के अलावा नये किसान अपना केसीसी निकटवर्ती बैंक से संपर्क कर बनवा सकते हैं। उन्होंने कहा कि कृषि के साथ-साथ पशुपालन व मत्स्य पालन के लिए भी ऋण केसीसी के तहत अतिरिक्त ऋण सीमा आवश्कतानुसार निर्धारित करा सकते हैं। इसके लिए एक पृष्ठ का सामान्य आवेदन पत्र तैयार कर सभी बैंकों की वेबसाइट पर उपलब्ध करा दिया गया है। इसके अलावा यह ूूू.ंहतपबववच.हवअ.पद पीएम किसान पोर्टल पर उपलब्ध है। उन्होंने बताया कि इसके लिए कोई भी बैंक किसी भी प्रकार का अतिरिक्त शुल्क नहीं लेगा। इसके तहत तहसील स्तर पर पात्र किसानों को निःशुल्क खसरा-खतौनी उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गई है।

महोबा से अन्य समाचार व लेख

» महोबा -विद्युत विभाग द्वारा भेजे जा रहे मनमाने बिल, ग्रामीण परेशान

» महोबा - आवास योजना की किश्त न आने पर लाभार्थियों में रोस

» महोबा -सक्रियता: फ्लैग मार्च कर संदिग्धों की हुई चेकिंग

» महोबा -तीन वांछित अपराधियों को पकड़कर भेजा जेल

» महोबा -वाहन पाकर खिल उठा वाहन स्वामी का चेहरा

 

नवीन समाचार व लेख

» महोबा -किसान सम्मान निधि का लाभ लेने किसान बनवाएं निःशुल्क केसीसी - जिलाधिकारी

» बांदा -यूपी बोर्ड परीक्षा में बेसिक शिक्षा विभाग के 30 से 40% शिक्षक गैरहाजिर

» महोबा - आवास योजना की किश्त न आने पर लाभार्थियों में रोस

» महोबा -सक्रियता: फ्लैग मार्च कर संदिग्धों की हुई चेकिंग

» महोबा -तीन वांछित अपराधियों को पकड़कर भेजा जेल