यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

महोबा -साइकिलों से चलकर सैकड़ों किमी दूर घर पहुंच रहे श्रमिक


🗒 शनिवार, मई 16 2020
🖋 रजत तिवारी, बुंदेलखंड सह संपादक बुंदेलखंड

कोरोना संकट की इस घड़ी में श्रमिकों पर टूटी आफत

महोबा -साइकिलों से चलकर सैकड़ों किमी दूर घर पहुंच रहे श्रमिक

- हजारों की संख्या में श्रमिकों का महानगरों से हुआ पलायन

महोबा, मोहम्मद आजाद चैधरी। कोरोना संकट की इस घड़ी में सबसे ज्यादा आफत और परेशानी श्रमिकों को हो रही है। भूखे प्यासे साइकिल चलाकर और पैदल चलकर तेज धूप में अपने बच्चों और परिवार के साथ वह सैकड़ों किमी दूर बने अपने घरों में पहुंच रहे है। शासन प्रशासन व समाजसेवियों द्वारा उन्हें भोजन आदि भी उपलब्ध कराया जा रहा है और सभी का परीक्षण कर क्वारंटाइन भी किया जा रहा है गौरतलब हो कि दूसरे प्रांतों से श्रमिकों के आने का सिलसिला जारी है। अब तक हजारों की संख्या में श्रमिक आ चुके है। महाराष्ट्र प्रांत के पनवेल में फंसे श्रमिक रोजगार छिन जाने से परेशान होकर साइकिलों से अपने घरों के लिए निकल पड़े। कई दिन में करीब 1100 किलोमीटर की साइकिल से यात्रा करके श्रीनगर पहुंचे। यहां से अब श्रमिकों को अपने गृह जनपद कौशांबी पहुंचने के लिए 250 किलोमीटर का सफर अभी और करना है। महाराष्ट्र के पनवेल में श्रमिक मजदूरी और कपड़ों में प्रेस करने का काम करते थे। मार्च में अचानक लॉकडाउन कर दिया गया। कुछ दिनों तक लॉकडाउन खुलने का इंतजार किया। पर, लगातार लॉकडाउन बढ़ने पर वह परेशान हो गए। कई दिनों तक साधन नहीं मिला, तो इन लोगों ने नई साइकिलें खरीदी। इसके बाद तीन मई को 24 से ज्यादा श्रमिकों का जत्था साइकिल से अपने गृह जनपद के लिए रवाना हुआ। दिन रात साइकिल चलाने के बाद  महाराष्ट्र से यूपी की सीमा में प्रवेश किया। यूपी में प्रवेश करने के बाद श्रमिकों को राहत मिली। यूपी-एमपी की कैमाहा सीमा पर थर्मल स्क्रीनिंग के बाद उनको खाना खिलाने के बाद गृह जनपद जाने दिया गया। लव, कुश, सुनील, अमित, गजेंद्र, साजन, सनी समेत सभी श्रमिक साइकिलों से घर की तरफ निकल पड़े। कोरोना संकट में सबसे ज्यादा परेशानी इन्हीं श्रमिकों को हो रही है। वह अपनी किस्मत को कोसें या फिर क्या कहें, उनके सामने विपरीत परिस्थितियां है। उनकी जुबान से बस यही सुनने को मिलता है कि वही होगा जो उपर वाले को मजबूर होगा।

महोबा से अन्य समाचार व लेख

» महोबा -36 क्वाटर अवैध देशी शराब सहित अभियुक्त गिरफ्तार

» महोबा -खन्ना पुलिस के हत्थे चढ़ा वांछित

» महोबा - अज्ञात कारणो के चलते किशोरी ने खाया कीटनाशक पदार्थ, मौत

» महोबा-जुआरियों को गिरफतार कर बरामद की गई नकदी

» महोबा -खाकी ने की सोशल डिस्टेन्सिंग (सामाजिक दूरी) बनाये रखने की अपील