यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

महोबा -चंद्रभान सिंह महाविद्यालय में बने आश्रय स्थल का निरीक्षण करने पहुंचे डीएम व एसपी


🗒 शनिवार, मई 16 2020
🖋 रजत तिवारी, बुंदेलखंड सह संपादक बुंदेलखंड

अन्य प्रदेशो से आ रहे श्रमिको के लिए महाविद्यालय की व्यवस्थाओं का लिया जायजा

महोबा -चंद्रभान सिंह महाविद्यालय में बने आश्रय स्थल का निरीक्षण करने पहुंचे डीएम व एसपी

- सभी को सोशल डिस्टेन्सि का विशेष ध्यान देने के दिये निर्देश

परिचय- परिचय- निरीक्षण करते डीएम व एसपी।

महोबा, मोहम्मद आजाद चैधरी। अन्य प्रदेशों से यूपी-एमपी कैमाहा बॉर्डर पर पहुंच रहे प्रवासी मजदूरों को सकुशल उनके गृह जनपद पहुँचाने हेतु श्री चंद्रभान सिंह महाविद्यालय में बनाये गए आश्रय स्थल तथा कैमाहा बॉर्डर का जिला मजिस्ट्रेट अवधेश कुमार तिवारी तथा एसपी मणिलाल पाटीदार ने निरीक्षण कर वहां मौजूद प्रवासी मजदूरों के हाल-चाल जाने। साथ ही आश्रय स्थल में प्रवासी मजदूरों को रोकने के लिए की गयी व्यवस्थाओं का जायजा लिया। बतादें कि अन्य प्रदेश से कैमाहा बॉर्डर के रास्ते आने वाले लोगों को श्री चंद्रभान सिंह महाविद्यालय में बनाये गए आश्रय स्थल में रोककर खान-पान आदि की व्यवस्थाओं के उपरांत स्क्रीनिंग कर उनके गृह जनपद बसों के माध्यम से भेजने की निःशुल्क व्यवस्था की जाती है। डीएम एवं एसपी ने बॉर्डर पर श्री चंद्रभान सिंह महाविद्यालय में बनाये गए शेल्टर/स्क्रीनिंग सेंटर का निरीक्षण कर वहां मौजूद व्यवस्थाओं का जायजा लिया। आज महाराष्ट्र, गुजरात एवं मध्यप्रदेश से आये करीब 4000 प्रवासी मजदूरों को 323 बसों के माध्यम से पूर्वांचल में उनके गृह जनपद में भेजा गया है। इस दौरान उन्होंने बॉर्डर एवं आश्रय स्थल पर तैनात कर्मचारियों को निर्देश दिया कि अन्य प्रदेशों से अपने घर आ रहे प्रवासी मजदूरों को बॉर्डर पर किसी भी प्रकार की परेशानी न हो। बॉर्डर पर उनके लिए भोजन आदि का प्रबंध करते हुए चिकित्सकों के द्वारा स्क्रीनिंग के उपरांत सोशल डिस्टेंसिन्ग का ध्यान रखते हुए उन्हें घर भेजने की कार्रवाही पूरी की जाए। उन्होंने कहा कि आश्रय स्थल में लोगों से सोशल डिस्टेंसिन्ग का पालन कराया जाए। डीएम ने बोर्डर पर तैनात कर्मचारियों को शख्त दिए कि किसी बाहर से आये वाहन को बिना चैक किये न गुजरने दिया जाए बल्कि वाहन से आने वाले लोगों को शेल्टर होम में रोककर स्क्रीनिंग के उपरांत ही उनके गृह जनपद सरकारी बसों के माध्यम से सुरक्षित भेजा जाए।

महोबा से अन्य समाचार व लेख

» महोबा - मजदूरो के लिए कोरोना बना अभिशाप

» महोबा -महोबकंठ पुलिस की दो टीमों ने मिलकर गिरफ्तार किये कुल 06 वांछित

» महोबा -कोटेदार ने मजदूर के राशन कार्ड में जोड़ा अपना नाम और हड़पता रहा 3 साल का राशन

» महोबा -सोशल डिस्टेंस का हर हाल में पालन करें लोग

» महोबा -खुला बाजार तो सामान की खरीददारी के लिए उमड़ी भीड़

 

नवीन समाचार व लेख

» हमीरपुर ज़िले में औरैया हादसे का बड़ा असर देखने को मिला

» आशियाना पुलिस ने अवैध गांजा संग शातिर युवक गिरफ्तार, फर्जी नम्बर प्लेट लगी मोटरसाइकिल बरामद,

» प्रवासी मजदूर पलायन कर रहे लोगो को फल बिस्कुट व खाना पानी दिया गया

» निगोहा में एक कोरोना पॉजिटिव की हुई पुष्टि

» महोबा - मजदूरो के लिए कोरोना बना अभिशाप