यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

महोबा-खुले न्यायालय, समय हुआ निर्धारित


🗒 शुक्रवार, मई 22 2020
🖋 रजत तिवारी, बुंदेलखंड सह संपादक बुंदेलखंड

महोबा, मोहम्मद आजाद चैधरी। उच्च न्यायालय इलाहाबाद द्वारा दिए गए निर्देश में विभिन्न परिक्षेत्रों (रेड, औरेन्ज एवं ग्रीन जोन) मंे लोकडाउन अवधि एवं उसकी पश्चात की अवधि में जिला न्यायालय के संचालन हेतु दिशा निर्देश जारी किये गये है, जो 08 मई 2020 से अग्रिम आदेश तक के लिये प्रभावी रहेंगे। उच्च न्यायालय के उपयुक्त दिशा निर्देशांे के परिपेक्ष्य मंे जिला मजिस्टेªट अवधेश कुमार तिवारी द्वारा पत्र के माध्यम से सूचित किया गया है कि जनपद मंे भारत सरकार एवं राज्य सरकार के द्वारा जारी दिशानिर्देश के अनुरूप हाॅट स्पाॅट, कन्टेनमेन्ट जोन की कार्यवाही समाप्त की जा चुकी है। उपयुक्त पत्र प्राप्त होने के उपरान्त जिलाधिकारी से हुई वार्ता में अवगत कराया गया कि जनपद महोबा वर्तमान में औरेन्ज जोन में है। उच्च न्यायालय द्वारा पारित उपरोक्त निर्देशों के अनुपालन में व जिला मजिस्ट्रेट महोबा से प्राप्त सूचना के दृष्टिगत आदेशित किया जाता है कि जनपद न्यायालय 21 मई 2020 से खुलेगा। जिसमें न्यायालय का समय प्रातः 07ः00 से दोपहर 1ः00 बजे तक एवं कार्यालय समय प्रातः 06ः30 से दोपहर 01ः30 तक रहेगा। न्यायालय समयानुसार अर्जेन्ट केसो की सुनवाई करेगें। जनपद न्यायाधीश महोबा कोर्ट का समय 08ः00 से 09ः00 बजे तक निर्धारित किया गया है। न्यायालय विशेष न्यायाधीश कोर्ट नं0 109ः00 से 09ः30, न्यायालय विशेष न्यायाधीश कोर्ट नं0 2 09ः30 से 10ः00, न्यायालय विशेष न्यायाधीश पाॅक्सो अधि0 07ः00 से 07ः30, न्यायालय विशेष न्यायाधीश पाॅक्सो अधि0 द्वितीय 07ः30 से 08ः00, न्यायालय, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट महोबा 11ः00 से 12ः00 तक रहेगा। जनपद न्यायाधीश गुलाब सिंह ने बताया कि न्यायालय के अनुपालन में संचालित न्यायालयों में निम्न वादों पर ही विचार किया जावेगा। लम्वित एवं नवीन जमानत प्रार्थना पत्र, लम्बित एवं नवीन अग्रिम जमानत प्रार्थना पत्र, रिमाण्ड/विचाराधीन बन्दियों से सम्बन्धित अन्य न्यायिक कार्य केवल वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से किया जायेगा। जनपद न्यायालय महोबा अधिष्ठान हेतु अधिकृत ई-मेल महोबाकोर्ट एटदरेट जीमेल. काम पर जमानत प्रार्थना पत्र व अन्य आवश्यक प्रार्थना पत्र को प्रेषित किया जावे। विद्वान अधिवक्तागण न्यायालय परिसर में वर्चुअल कोर्ट वीडियो कान्फ्रेसिंग रूम में बहस हेतु उपस्थित हो और तर्क समाप्त होते ही न्यायालय परिसर छोड़ दे। वादकारियों व अन्य प्रतिनिधिगण का न्यायालय परिसर अथवा न्यायालय में प्रवेश कठोरता पूर्वक प्रतिबन्धित रहेगा। बाह्य न्यायालय चरखारी एवं कुलपहाड़ का अति आवश्यक कार्य मुख्य न्यायिक मजिस्टेªट महोबा द्वारा ही सम्पादित किया जायेगा।

महोबा-खुले न्यायालय, समय हुआ निर्धारित

महोबा से अन्य समाचार व लेख

» महोबा-स्पेशल ट्रेन से आये 236 श्रमिको सीओ सदर ने बसो से किया रवाना

» महोबा-प्रवासियों/अवरूद्ध प्रवासियों के बनेंगे अस्थायी राशन कार्ड-डीएम

» महोबा-कुलपहाड़ पुलिस के हत्थे चढ़ा वांछित

» महोबा-लाकडाउन के उल्लंघन पर हुई कार्यवाही, किया गया वाहनों का चालान

» महोबा-सीओ सिटी ने न्यायालय सुरक्षा के मददेनजर किया निरीक्षण

 

नवीन समाचार व लेख

» मोदी विरोधी आयोजनों में क्यों नहीं शामिल होना चाहती है AAP

» कन्नोज मे लॉकडाउन में फंसा दूल्हा तो शादी करने दुल्हन पैदल पहुंच गई उसके घर

» कानपुर सेंट्रल रेलवे स्टेशन पर श्रमिक स्पेशल ट्रेन पहुंचते ही यात्रियों में लंच पैकेट लूटने में चले लात-घूंसे

» आगरा मेंं कुल कोरोना संक्रमित 843,शुक्रवार भी शुक्र भरा रहा

» आगरा मे दुष्‍कर्म पीडि़ता ने मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ से लगाई गुहार, नहीं मिला न्‍याय तो परिवार सहित करेगी आत्‍महत्‍या