यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

महोबा -कोरोना जैसी घातक बीमारी में लॉक डाउन के समय डिजीटल योद्धा का काम किया csc ने:


🗒 मंगलवार, जून 02 2020
🖋 रजत तिवारी, बुंदेलखंड सह संपादक बुंदेलखंड

महोबा -Csc के ज़िला प्रबंधक शिवा  कपूर,दीपक वर्मा व ज़िला cordinator रजत तिवारी  ने बताया की  लॉक डाउन के चलते सरकार ने जो भी आर्थिक मदद जनता तक पहुँचाया उसमे सबसे आगे csc योद्धा ही रहे जो उनके पास जाकर उनका नकद निकसी में मदद किया।  आपको बता दे जब बुजुर्गों व असहाय लोगो को पैसे की जरूरत पड़ती लेकिन वो बैंक जाने में असमर्थता जाहिर किया तब कॉमन सर्विस सेंटर संचालको ने DIGIPAY के माध्यम से घर घर जा कर उनका पैसा निकाला । जब ग्रामीणों को उज्जवला स्किम के रसोई गैस की रिफील कराने हेतु धन आवंटन किया तब भी यही योद्धा सामने आये।  जब घर की आवश्यकता अनुसार घर चलाने के लिए जरूरत की समान की आवश्यकता पड़ी तब CSC ग्रामीण ई- स्टोर के माध्यम से सामान घर पहुचाया इन्ही डिजिटल योद्धाओं ने और जब  लॉक डाउन के चलते लोगो को घर से निकलना मुश्किल था तब घर बैठे टेली मैडिसिन के माध्यम से उनका इलाज कराया,  यही नही जब प्रवासी मजदूर रोड पर सैकड़ो किलोमीटर पैदल अपनी यात्रा किया उस वक्त भी कॉमन सर्विस सेंट्रो के संचालको ने खाना , पानी मास्क अन्य सुविधाओं  को मुहैया करवाया इन्ही csc संचालको ने । यही नही सरकार द्वारा लांच किया गया कोरोना बीमारी से बचने के लिए आरोग्य सेतु जिसको पुरे देश सहित जनपद के नागरिकों के मोबाईल फ़ोन में डाउनलोड करवाने में सबसे अग्रणीय रहे  ये  योद्धा। 

महोबा -कोरोना जैसी घातक बीमारी में लॉक डाउन के समय डिजीटल योद्धा का काम किया csc ने:

कोरोना से बचाव के उपाय करने में लोगों को जागरूक करने में सबसे अहम भूमिका निभाई सीएससी ने, पूरे देश में घर-घर जाकर लोगों को मास्क बांटे और लोगो को जागरूक भी किया।  

जरूरत मंदो को पहुँचाया CSC ने खाद्यान्न किट:

वर्तमान समय में  देशव्यापी वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण के चलते जनपद के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों की रोजी रोटी चलाने के लिए पूर्ण रूप से सभी कार्यों पर विराम लगा हुआ है जिसके चलते जनपद के  सभी गाँवो में विभिन्न प्रकार की गंभीर समस्याएं उत्पन्न है जिस के क्रम में 200 से अधिक  csc संचालको ने जरूरत मंदो को खाद्यान्न किट पहुँचाया जिससे देश की जनता कोरोना जैसी बीमारी से घर मे रह कर लॉक डाउन का पालन कर इसमे कॉमन सर्विस की महोबा  टीम ने ध्यान दिया कि कोई भी भूखा ना रहे के क्रम में अनवरत चलाए जा रहे खाद्यान्न किट का वितरण किया जा रहा है, यही नही जब प्रवासी मजदूर रोड पर सैकड़ो किलोमीटर पैदल अपनी यात्रा किया उस वक्त भी कॉमन सर्विस सेंट्रो के संचालको ने खाना , पानी अन्य सुविधाओं  को मुहैया करवाया । प्रदेश के महोबा  जिले के CSC VLE ने असहाय गरीब तबके के लोगों मैं खाद्यान्न किट का वितरण किया गया असहाय गरीब लोगों मैं भोजन आदि की समस्या से निजात दिलाने के लिये मास्क ,फल ,व  राशन आदि। किट वितरण के दौरान सभी लोगों से लॉक डाउन के नियमों का पालन करते हुए हम सभी को कोरोना जैसी महामारी से बचने के लिए विभिन्न प्रकार के उपाय बताए गए और CSC संचालको ने इस प्रकार के उपायों का पालन करके हम सब स्वयं के साथ अपने परिवार गांव क्षेत्र के साथ ही अपने प्रदेश और देश को सुरक्षित रख सकते हैं ।

सीएससी ग्रामीण ई स्टोर 

कोरोना जैसी महामारी के चलते लॉक डाउन के समय कॉमन सर्विस के योद्धाओं ने जरूरत का सामना सीएससी ग्रामीण स्टोर के माध्यम से माननीय प्रधानमंत्री जी के वोकल फॉर लोकल को चरितार्थ करते हुए घर घर पहुँचा कर अपना फर्ज पूरा किया। 

 शहरों की तर्ज़ पर अब ग्रामीण क्षेत्रों में भी जरूरी सामानों की होम डिलीवरी सेवा शुरू हो गई। गांवों के भी लोग घर बैठे किराना सामग्री समेत अन्य जरूरी वस्तुओं का ऑनलाइन आर्डर देकर घर पर मंगवा सकते हैं। घर पर ऑर्डर पहुंचने पर कैश ऑन डिलेवरी के तहत मूल्य का भुगतान करना होगा। 

इसके लिए ग्रामीणों को अपने मोबाइल पर सीएससी ग्रामीण ई-स्टोर एप डाउनलोड करना होगा। एप पर आर्डर करने में असुविधा होने पर ग्रामीण कॉमन सर्विस सेंटर पर जाकर भी जरूरी सामानों का ऑर्डर कर सकते हैं। ई-कॉमर्स की दिशा में सीएससी (कामन सर्विस सेंटर) को स्टोर बनाया गया है। केंद्र सरकार ने डिजिटल इंडिया के तहत ई-कामर्स के क्षेत्र में कदम बढ़ाते हुए ग्रामीण क्षेत्रों में भी होम डिलीवरी की सुविधा देने की पहल शुरू की है।

 

सीएससी ग्रामीण ई- स्टोर एप गूगल प्ले स्टोर पर जाकर डाउनलोड किया जा सकता है। एप डाउनलोड करने के बाद संबंधित जिला, तहसील व ब्लॉक का चयन कर अपने नजदीकी सीएससी को चिह्नित करना होगा। इस दौरान प्रदर्शित सूची में से सामानों को चिह्नित कर ऑर्डर किया जा सकता है जिसमें सभी लोगों ने सेवा देना प्रारंभ कर दिया है। जल्द ही सभी केंद्रों पर यह सुविधा उपलब्ध कराने का प्रयास किया जाएगा।

डीजीपे सेवा:

आपको बता दे कि जब देश विषम परिस्थितियों से गुजर रहा था तब कॉमन सर्विस सेंटर संचालको के देश भर में डिजिटल योद्धाओं के रूप में काम कि

महोबा से अन्य समाचार व लेख

» महोबा-मोटीवेशनल स्पीकर बताएंगे कोरोना दौर में कैसे रहे सकारात्मक

» महोबा-कोरोना वायरस के सात और मरीज मिलने से मचा हड़कंप

» महोबा-कुलपहाड़ पुलिस ने किया 20 लीटर शराब के साथ एक गिरफ्तार

» महोबा-अजनर व खरेला पुलिस ने शातिर अपराधियों को पकड़ा

» महोबा-क्षेत्राधिकारियों ने पैदल गस्त करके लोगो को किया गया जागरुक

 

नवीन समाचार व लेख

» मेरठ मे 50 हजार का इनामी दीपक सिद्धू पुलिस मुठभेड़ में ढेर, अंधेरे का फायदा उठाकर साथी फरार

» लखनऊ में 197 मिले कोरोना संक्रमित, डफरिन अस्पताल के डॉक्टर समेत पांच की मौत

» लखनऊ में बसों की सजावट में लगे छह रोडवेजकर्मी निकले कोरोना संक्रमित, मचा हड़कंप

» यूपी के मुख्यमंत्री कार्यालय परिसर में भी कोरोना की दस्तक, सोशल मीडिया सेल में दो कर्मी संक्रमित

» गोंडा में अवैध रूप से बीड़ी बनाते तीन गिरफ्तार, भारी मात्रा में रैपर व पन्नी भी बरामद