यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

लखनऊ की कंपनी ने निलंबित एसपी, इंस्पेक्टर और एसएसआई पर दर्ज कराया मुकदमा


🗒 गुरुवार, सितंबर 10 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
लखनऊ की कंपनी ने निलंबित एसपी, इंस्पेक्टर और एसएसआई पर दर्ज कराया मुकदमा

कार में गोली लगने से घायल मिले कबरई के व्यापारी इंद्रकांत त्रिपाठी के वायरल वीडियो ने महोबा पुलिस महकमे में जमी भ्रष्टाचार की परत उधेड़ी तो अब लखनऊ की एक कंपनी ने भी चौंकाने वाला खुलासा कर दिया है। नवागत एसपी ने इंद्रकांत प्रकरण में संलिप्त मिले कबरई थाना प्रभारी देवेंद्र शुक्ला सहित चार कर्मियों को निलंबित किया है, वहीं लखनऊ की कंपनी निदेशक की तहरीर पर निलंबित एसपी मणिलाल पाटीदार समेत चार के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज कराया है। इस कार्रवाई के बाद से क्रशर उद्योग में दखल रखने वाले पुलिस महकमे से जुड़े लोगों में खलबली मच गई है।क्रशर कारोबारी इंद्रकांत त्रिपाठी के कार के अंदर गोली लगने से घायल मिलने के बाद बुधवार को भ्रष्टाचार का मामला उजागर होते ही प्रदेश सरकार ने तत्काल प्रभाव से एसपी मणिलाल पाटीदार को निलंबित कर दिया था और जांच रिपोर्ट तलब कर ली थी। उनके निलंबन के बाद नई तैनाती मिलते एसपी अरुण कुमार श्रीवास्तव ने कबरई इंस्पेक्टर देवेंद्र शुक्ला, दो उपनिरीक्षक और एक आरक्षी को निलंबित कर दिया था।गुरुवार को भ्रष्टाचार का एक और मामला सामने आया तो सभी चौंक गए। अब लखनऊ की पीपी पांडेय इंफ्रास्ट्रक्चर कंपनी के निदेश नितीश कुमार पांडेय ने तहरीर देकर निलंबित पुलिस अधीक्षक मणिलाल पाटीदार, तत्कालीन निरीक्षक चरखारी राकेश कुमार सरोज व तत्कालीन एसओ खरेला उपनिरीक्षक राजू सिंह पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए हैं। एसपी के निर्देश पर निलंबित एसपी मणिलाल पाटीदार, इंस्पेक्टर व दारोगा के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।आरोप है कि कंपनी की गाड़ियों को पकड़कर जबरन चालन किया गया और प्रोग्राम मैनेजर पर तत्कालीन एसपी को पैसा देने का दबाव बनाया गया था। इस कार्रवाई के बाद से पुलिस महकमे के कई अफसरों और कर्मचारियों में खलबली मच गई है।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भ्रष्टाचारियों पर कड़ी कार्रवाई के मूड में है। अब निलंबित एसपी समेत भ्रष्टाचार में शामिल पुलिस कर्मियों की भी संपत्ति की जांच करने के आदेश दिए गए हैं। गृह विभाग के प्रवक्ता द्वारा जारी आदेश के मुताबिक सीएम ने निलंबित पुलिस अधीक्षक मणिलाल पाटीदार की संपत्तियों की जांच विजिलेंस के माध्यम से कराई जाएगी। साथ ही निलंबित एसपी मणिलाल पाटीदार द्वारा की गई अनियमितताओं में संलिप्त पुलिस कर्मियों की पृथक से जांच करके दंडित किया जाएगा। इससे पुलिस महकमे में खलबली मची हुई है।

महोबा से अन्य समाचार व लेख

» भ्रष्टाचार में महोबा के एसपी निलंबित, गोली लगने से पहले क्रशर कारोबारी ने वायरल किया वीडियो

» महोबा- कोविड-19 को लेकर लगातार लोगों को जागरूक कर रही खाकी

» महोबा-सूची में है नाम तो शहर वापसी से पहले बनवा लें गोल्डन कार्ड - सीएमओ

» महोबा- वर्चअल सभा के द्वारा किया गया ई-बुक का विमोचन

» महोबा-किसान सम्मान निधि के तहत जिले के किसानो को मिली धनराशि

 

नवीन समाचार व लेख

» औरैया में सेवानिवृत्त पशु चिकित्सक की ईंट-पत्थर से कुचलकर हत्या, 50 लाख की रकम बनी वजह

» फर्रुखाबाद मे रिटायर्ड सैन्य कर्मी की बेटी की खुदकशी पीछे छोड़ गई कई सवाल, मंगेतर ने तोड़ दी थी शादी

» लखनऊ की कंपनी ने निलंबित एसपी, इंस्पेक्टर और एसएसआई पर दर्ज कराया मुकदमा

» अलीगढ़ में दो युवकों को गोली मारी, हमलावर फरार

» बिजनौर में पोते ने दादा को ईंट से पीट-पीटकर मार डाला, नशें में घटना को दिया अंजाम