यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

महोबा-कोरोना से बचाव हेतु पांचों सीएचसी में बच्चों के लिए पीकू वार्ड तैयार


🗒 बुधवार, जून 23 2021
🖋 रजत तिवारी, बुंदेलखंड सह संपादक बुंदेलखंड
महोबा-कोरोना से बचाव हेतु पांचों सीएचसी में बच्चों के लिए पीकू वार्ड तैयार


- 10 बेड आईसीयू व 2 बेड को बनाया वेंटीलेटर
- मुख्य चिकित्साधिकारी ने जैतपुर में बने वार्ड का लिया जायजा
- तीसरी लहर से जंग को स्वास्थ्य विभाग की तैयारी

महोबा। कोरोना की तीसरी लहर में बच्चों पर कोरोना के असर की आशंका को देखते हुए बचाव की तैयारियां तेज हो गई हैं। भले ही जिले में अभी तक कोई मामला अभी सामने नहीं आया है, लेकिन स्वास्थ्य विभाग ने इस बीमारी से निबटने को लेकर सारी तैयारियां पूरी कर ली हैं। जनपद की पांचों सामुदयिक स्वास्थ्य केंद्रों में 12-12 बेड पीडियाट्रिक इंटेंसिव केयर यूनिट (पीकू) बनकर तैयार हो गई हैं। मुख्य चिकित्साधिकारी डा. एमके सिन्हा ने जैतपुर सीएचसी का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। सीएमओ ने बताया कि शासन ने जनपद की किन्हीं दो सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में बच्चों के लिए पीकू वार्ड बनाने के निर्देश दिए थे। लेकिन संक्रमण के खतरे को देखते हुए जिलाधिकारी सत्येंद्र कुमार के निर्देशन पर जनपद की पांचों सीएचसी पनवाड़ी, कुलपहाड़, जैतपुर, चरखारी व कबरई में 12-12 बेड का वार्ड तैयार कर लिया गया है। इसमें 10 बेड आक्सीजन और दो बेड वेंटीलेटर के बनाए गए हैं। सीएमओ ने जैतपुर सीएचसी में वार्ड का निरीक्षण कर व्यवस्था देखी। प्रभारी चिकित्सक डा.पीके सिंह से सुविधाओं की जानकारी ली। डा. सिन्हा ने बताया कि संक्रमण की स्थिति में बच्चों को तत्काल इलाज देने के लिए पीडियाट्रिक इंटेंसिव केयर यूनिट (पीकू) को समृद्ध करने की दिशा में तेजी से कार्य किया गया है। उन्होंने कहा कि जिला अस्पताल में भी बच्चों के लिए 45 बेड का पीकू वार्ड तैयार किया जा रहा है। इसमें 25 बेड आक्सजन और 20 बेड वेंटीलेटर के बनाए जा रहे हैं। शीघ्र ही इसका भी काम पूरा हो जाएगा। साथ ही पीकू वार्ड में ड्यूटी करने वाले चिकित्सकों व चिकित्साकर्मियों को प्रशिक्षित किया जाएगा।