यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

एसओसी अधिकारी का अश्लील वीडियो वायरल


🗒 रविवार, जून 05 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
एसओसी अधिकारी का अश्लील वीडियो वायरल

मैनपुरी , । मैनपुरी जनपद में शनिवार को इंटरनेट मीडिया पर वायरल हुआ अश्लील वीडियो जिले में तैनात एसओसी (बंदोबस्त अधिकारी चकबंदी) का है। वीडियो में दिखाई दे रही महिला चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी की पत्नी है। इस मामले में जहां महिला ने एसओसी पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है। वहीं एसओसी ने महिला और उसके पति के खिलाफ ब्लैकमेल करने की तहरीर दी है। पुलिस जांच में जुट गई है।शनिवार काे इंटरनेट मीडिया पर एक अश्लील वीडियो तेजी से वायरल हुआ था। इस वीडियो में दिखाई दे रहे व्यक्ति को चकबंदी विभाग का अधिकारी बताया गया था। पहचान करने पर पता चला कि वीडियो में दिखाई दे रहा पुरुष एसओसी लालता प्रसाद अहिरवार है। उनके साथ दिखाई दे रही महिला चकबंदी विभाग के चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी की पत्नी है।महिला का आरोप है कि एसओसी ने धमका कर और बरगलाकर उसके साथ लंबे अरसे तक यौन उत्पीड़न किया है। विरोध करने पर उसे परिवार सहित जान से मारने धमकी दी जा रही है। हालांकि महिला द्वारा थाने में कोई तहरीर नहीं दी गई है। वहीं वीडियाे वायरल होने के बाद पुलिस ने पीड़ित महिला की तलाश शुरू कर दी है। ताकि उससे तहरीर लेकर कार्रवाई की जा सके।दूसरी ओर पूरे मामले में नया मोड़ आ गया है। रविवार को एसओसी ने कोतवाली में तहरीर देते हुए महिला और उसके पति पर ब्लैकमेल करने का आरोप लगाते हुए रिपोर्ट दर्ज कराने की मांग की है। एसओसी द्वारा दी गई तहरीर में कहा गया है कि चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी ने साजिश के तहत उन्हें फंसाने का प्रयास किया है।कर्मचारी की पत्नी द्वारा उन पर सरकारी कार्यों को लेकर दबाव बनाया जाता था। उन्हें नशीला खाना खिलाकर आपत्तिजनक वीडियो और तस्वीरें ली गई हैं। वे महिला और उसके बच्चों को आगरा ताजमहल घुमाने ले गए थे। कई बार शापिंग करा चुके हैं।इंस्पेक्टर कोतवाली विक्रम सिंह ने बताया कि महिला की ओर से कोई तहरीर नहीं मिली है। तहरीर लेने के लिए महिला को तलाश किया जा रहा है। वहीं एसओसी द्वारा महिला और उसके पति के खिलाफ तहरीर दी गई है। जांच के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।