यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

मैनपुरी के गांव खिचौली मे अपाचे की जगह दहेज में आई स्पलेंडर तो बिदक गया दूल्हा


🗒 सोमवार, मई 13 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
मैनपुरी के गांव खिचौली मे अपाचे की जगह दहेज में आई स्पलेंडर तो बिदक गया दूल्हा

आदर्श और सिद्धांतों से भरी बातें गांवों में आज भी लोगों को रास नहीं आ रहीं। पढ़ी-लिखी बीएड दुल्हन। पिता ने बिटिया को पढ़ाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। अब हाथ पीले करने में भी जेब हल्की करने में कमी नहीं दिखाई। लड़के वालों ने दहेज में जो डिमांड की, वह पूरी की। बस एक चूक उनसे हो गई। लड़के ने अपाचे मांगी थी और वो स्पलेंडर लेकर पहुंच गए। बाइक मन की न मिलने पर दूल्हा ऐसा नाराज हुआ कि लड़की के दरवाजे पर बरात लेकर ही नहीं पहुंचा। उधर बिटिया हाथों में मेहंदी लगाए बरात आने की राह ही देखती रह गई। मामला अब थाने में है।

ये मामला मैनपुरी के गांव खिचौली का है। महेश सिंह की पुत्री रंगोली बीएड कर चुकी है। महेश ङ्क्षसह ने अपनी पुत्री की शादी फीरोजाबाद के थाना मटसैना क्षेत्र के गांव उंधनी निवासी हेमंत सिंह के पुत्र संजीव से तय की थी। आठ मई को लड़की पक्ष के लोग लगुन लेकर लड़के पक्ष के यहां पहुंचे। लड़की पक्ष के लोग सुपर स्पलेंडर बाइक, सोने की चेन, अंगूठी व डेढ़ लाख रुपये लेकर गए थे। यह देखकर लड़का संजीव के पिता हेमंत व रंजीत कुमार, सौरभ कुमार, बादाम सिंह, दिलीप कुमार, योगेश कुमार आदि ने अपाचे बाइक व साढ़े तीन लाख रुपये की मांग करते हुए लगुन चढ़वाने से मना कर दिया। लगुन चढ़ाने पहुंचे लड़की पक्ष के लोगों से मारपीट कर दी। जिसके बाद बिचौलिया द्वारा दोनों पक्षों के बीच समझौता करा दिया गया।लड़के पक्ष के लोग 12 मई को बरात लेकर आने को राजी हुए। 12 मई को लड़की पक्ष के लोगों द्वारा बरात की सारी तैयारियां कर ली गईं। लेकिन बरात नहीं आई। दुल्हन हाथ में मेहंदी रचाकर सजी बैठी रही। घटना की तहरीर लड़की के पिता महेश सिंह पुत्र दिवारीलाल ने थाना में दी है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।