यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

लिंटर गिरने से 12 मजदूर दबे, दो की मौत


🗒 शनिवार, अप्रैल 02 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
लिंटर गिरने से 12 मजदूर दबे, दो की मौत

मैनपुरी , । मैनपुरी जिले के किशनी थाना क्षेत्र के महिगवां में शनिवार को दर्दनाक हादसे में दो मजदूरों की मौत हो गई। निर्माणाधीन मकान की छत डालते समय शटरिंग की बल्ली खिसकने से लिंटर नीचे आ गिरा। 12 मजदूर मलबे के नीचे दब गए। इनमें से एक की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि एक मजबूर ने सैफई मेडिकल कालेज में उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। 10 मजबूर घायल हुए हैं।शनिवार को महिगवां निवासी गौरव शाक्य के गांव के बाहर बन रहे मकान पर लिंटर पड़ रहा था। लिंटर डालने के लिये समान ग्राम सभा के मरिहार से मजदूर आये थे । कुछ हिस्से पर लेंटर पड़ने के बाद दोपहर 12 बजे शटरिंग की एक बल्ली खिसक गई। सभी मजदूर लिंटर के नीचे आकर बल्ली को उठाने लगे, उसी समय अचानक भरभराकर लिंटर नीचे आ गिरा। सभी मजदूर उसके नीचे दब गए। हादसा होते ही चींख पुकार मच गई। महिगवां, भरतपुर, नगला खलक, नगला सती आदि गांवों के सैकड़ों ग्रामीण मौके पर पहुंचे। फावड़े से खोदाई कर मजदूरों को निकालना शुरू किया। लिंटर डाल रहे मिस्त्री प्रेमपाल शाक्य निवासी मरिहार को जब तक निकाला गया, उनकी मौत हो चुकी थी सूचना पर सीएचसी से सभी एम्बुलेंस मौके पर पहुंची और घायलों को सैफई ले जाया गया। एसडीएम किशनी जयप्रकाश, थानाध्यक्ष धर्मेंद्र कुमार, हल्का इंचार्ज सत्यभान सिंह, लेखपाल धीरज यादव भी घटनास्थल पर पहुंच गए। ग्राम प्रधान प्रतिनिधि शशांक शाक्य, समान प्रधान उमेश शर्मा, प्रशांत शर्मा ने जेसीबी से मलबे में मजदूरों की तलाश कराई। सैफई पहुंचने पर गंभीर घायल मजदूर सुखवीर राठौर निवासी महिगवां की भी मौत हो गयी। सीओ भोगांव चन्द्रकेश सिंह ने भी घटनास्थल पर पहुंचकर घटना की जानकारी ली। एसडीएम जयप्रकाश ने बताया कि लेखपाल को मृतकों व घायलों की आर्थिक सहायता के लिये घटना की रिपोर्ट भेजने के निर्देश दिए गए हैं।सीएमओ भी पहुंचे हादसे की सूचना पर सीएमओ डा. पीपी सिंह भी गांव महिगवा पहुंचे। थानाध्यक्ष से घायल व मृतक की सूची ली। इसके बाद उन्होंने सैफई मेडिकल कालेज प्रशासन से बात कर बेहतर उपचार देने के लिए कहा।