यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

रिश्वत लेते लेखपाल रंगे हाथ गिरफ्तार


🗒 बुधवार, अगस्त 24 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
रिश्वत लेते लेखपाल रंगे हाथ गिरफ्तार

मथुरा, । मथुरा-भरतपुर मार्ग पर एक जमीन का दाखिल खारिज करने के एवज में डेढ़ लाख रुपये की मांग कर रहे एक लेखपाल को ने बुधवार को रंगे हाथ पकड़ लिया।लेखपाल सवा लाख रुपये पहले ही ले चुके थे, जबकि 15 हजार रुपये आज ले रहे थे। एंटी करप्शन टीम के प्रभारी ने थाना हाईवे में लेखपाल के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम में मुकदमा दर्ज कराया है।छाता तहसील के गांव धमसींगा के मूल निवासी लेखपाल प्रमोद दीक्षित थाना हाईवे क्षेत्र की कृष्णाधाम गणेशरा कालोनी में रहते हैं। उनकी तैनाती गोवर्धन तहसील में हैं। वह मथुरा-भरतपुर मार्ग स्थित गांव कोसी खुर्द क्षेत्र के हल्का का कार्य देखते हैं। इसी हल्का में थाना सदर बाजार क्षेत्र के औरंगाबाद निवासी कैलाश चंद्र प्रजापति ने जमीन खरीदी थी।इस जमीन का दाखिला खारिज कराने के लिए लेखपाल प्रमोद दीक्षित ने कैलाशचंद्र प्रजापति से डेढ़ लाख रुपये की रिश्वत मांगी थी। कैलाशचंद्र प्रजापति का आरोप है कि लेखपाल को एक लाख रुपये एक बार और 25 हजार हजार रुपये एक बार में दिए थे। दो बार में वह सवा लाख रुपये लेखपाल को दे चुके थे। मगर, लेखपाल दाखिल खारिज नहीं कर रहे थे।कैलाश चंद्र प्रजापति ने इसकी शिकायत एंटी करप्शन कार्यालय आगरा में इसकी शिकायत की। इंस्पेक्टर कुशलवीर सिंह के नेतृत्व में टीम ने लेखपाल को रंगे हाथ दबोचने के लिए कैलाशचंद्र प्रजापति के साथ मिलकर जाल बिछाया।सुबह कैलाशचंद्र प्रजापति 15 हजार रुपये लेकर लेखपाल के आवास कृष्णा धाम पहुंचे और नकदी दी। नकदी देने के बाद ही टीम ने लेखपाल को दबोच लिया। गिरफ्तार कर थाना हाईवे ले आए। थाना हाईवे प्रभारी छोटे लाल ने बताया, एंटी करप्शन के प्रभारी की तहरीर पर लेखापाल के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत मुकदमा लिखा गया है। आरोपित को मेरठ कोर्ट में पेश किया जाएगा।  

मथुरा से अन्य समाचार व लेख

» आजादी अमृत महोत्सव के अंतर्गत निकाली गई तिरंगा यात्रा

» ड्राइवर ने लगाया पहले लूट का आरोप, गिरफ्तार

» पुलिस मुठभेड़ में गोली लगने से एक बदमाश घायल

» बीएसए के आदेश को उच्च न्यायालय ने किया निरस्त

» सीएमओ कार्यालय में भ्रष्टाचार ही भ्रष्टाचार पूर्व एसीएमओ को भी नहीं बख्शा जा रहा

 

नवीन समाचार व लेख

» महिला की हत्या की गुत्थी सुलझी, नाबालिग ने तार से घोंटा था गला

» अतीक अहमद की प्रयागराज में 76 करोड़ की संपत्ति की गई कुर्क

» चंदौली में तेलंगाना पुलिस के हत्थे चढ़े दो सट्टेबाज, पांच बैगों में बरामद हुए नौ करोड़

» महिला की ट्रक की चपेट में आने से मौत

» युवक को बच्‍चा चोर समझकर मार डाला, दो आरोपित गिरफ्तार