यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

मथुरा में यमुना के घाटों पर तीन करोड़ से स्थापित होंगे श्राद्ध कलश


🗒 शुक्रवार, मई 31 2019
🖋 विजय सिंघल, दैनिक ब्यूरो चीफ मथुरा

ब्यूरो चीफ विजय सिंघल

मथुरा में यमुना के घाटों पर तीन करोड़ से स्थापित होंगे श्राद्ध कलश

मथुरा में यमुना के घाटों पर अब लोगों को श्राद्ध कर्म के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा। सरकार द्वारा तीन करोड़ की लागत से घाटों पर श्राद्ध कलश स्थापित किए जाएंगे ताकि लोग अपने पितरों के लिए आसानी से श्राद्ध कर्म कर सकें। जल्द ही यमुना के घाटों पर श्राद्ध कलश लगाने का काम प्रारंभ हो जाएगा। सरकार द्वारा नमामि गंगे योजना के तहत गंगा के घाटों पर विकास कार्य किया जा रहा है लेकिन निगम अधिकारियों के विशेष प्रयासों से मथुरा को भी नमामि गंगे योजना के तहत यमुना के घाटों की सफाई तथा श्राद्ध कलश स्थापना के लिए तीन करोड़ 59 लाख की धनराशि स्वीकृत हुई है। इस राशि से होने वाले कार्यों के लिए शासन स्तर से ही टेंडर किए गए हैं। टेंडर लेने वाली कंपनी के साथ निगम की सभी औपचारिकताएं पूर्ण कर ली गई हैं। निगम द्वारा चार जून को कंपनी के साथ अनुबंध पत्र पर हस्ताक्षर किए जाएंगे तथा दस जून से कंपनी घाटों की सफाई का काम प्रारंभ कर देगी। नगर आयुक्त समीर वर्मा ने बताया कि जल्द ही कंपनी द्वारा कार्य प्रारंभ कर दिया जाएगा।

मथुरा से अन्य समाचार व लेख

» वृन्दावन शोध संस्थान में श्री कृष्ण जन्मोत्सव को लेकर हुई चर्चा

» अस्पताल में कार्यरत महिला कर्मचारी ने लगाया निजी कंपनी के प्रबंधक पर छेड़छाड़ का आरोप

» भारतीय मानवाधिकार परिषद में स्वतंत्र दिवस के मौके पर बच्चों को बांटी पाठ्य सामग्री

» मथुरा के कस्बा बाजना में युवक ने की नाबालिग लड़की के साथ छेड़-छाड़ पॉक्‍सो एक्‍ट में मुकदमा दर्ज भेजा जेल

» अन्नत बलिदानों की सौगात स्वतंत्रता दिवस : सुरेश्वरा दास जी

 

नवीन समाचार व लेख

» राजधानी मे अस्पताल ने नहीं भेजी VIP एंबुलेंस, मां के सामने ही तड़प-तड़पकर मर गया मासूम

» ट्रैफिक बूथ के अंदर नहीं काट सकेंगे चालान, अब हटेंगे सारे पर्दे

» राजधानी मे जमीन के फर्जीवाड़े में शामिल 35 आवासीय समितियों की होगी जांच

» अब स्कूलों में बच्चों के आधार कार्ड बनाएगा डाक विभाग

» बंगाल में दो भाजपा नेताओं की हत्या, कटघरे में फिर तृणमूल