यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

मथुरा की नीलम पहलवान यूरोप में दिखाएगी अपना दमखम


🗒 शनिवार, अगस्त 10 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

ठाकुर रविकान्त तौमर, ब्यूरो चीफ मथुरा
मथुरा। यह कहना सच है कि सुविधाओं के अभाव में खेल प्रतिभा दम नहीं तोड़ती बस मन में कुछ करने का जज्बा होना चाहिए। इस बात को साबित कर रही है एक महिला पहलवान। थाना वृन्दावन की पुलिसचौकी जैंत क्षेत्र के अंतर्गत गांव फैंचरी निवासी उमरपाल सिरोही की पुत्री कुमारी नीलम मल्ल विद्या में ब्रज का जमकर नाम रोशन कर रही है। उसको इस विधा का शोक अपनी ननिहाल नगला अबुआ ओल से लगा। उसका मामा राजू पहलवान जब कसरत करता था तो वह भी उसके साथ 13 वर्ष की आयु में कसरत करने लग जाती थी। हालांकि राजू इसका विरोध करता था। मगर वह नहीं मानती थी। नीलम ने पहलवानी करने की अपने पिता कुंवरपाल सिंह सिरोही, मां राजकुमारी से इच्छा जाहिर की। उन्होंने उसका समर्थन किया और पहलवानी करवाने के लिए उसके फूफा जिला कुश्ती संघ के महासचिव जनार्दन पहलवान के पास छोड़ दिया। पहलवान ने नीलम को कसरत के तौर तरीके बताए और दाब-पेच सिखाना शुरू कर दिया। फिर क्या उसने धूम मचा दी। सितंबर 2017 में विश्व कैडेट चेम्पियनशिप में प्रतिभाग कर देश के लिए कांस्य पदक जीतकर सभी को चौंका दिया। इसके बाद 11 जुलाई 2019 को चौंनबुरी थाईलैंड में हुई जूनियर एशिया चेम्पियनशिप में हिस्सा लिया। मगर वह कोई पदक नहीं जीत सकी। अब उसका चयन इंडिया कैम्प लखनऊ से 50 किलोग्राम भार वर्ग में आगामी 12 से 18 अगस्त 2019 को स्टोनियां यूरोप में होने वाली जूनियर वर्ल्ड चेम्पियनशिप के लिए कर लिया गया है। इस प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के लिए 11 अगस्त को हवाईजहाज से रवाना हो जाएगी। उसकी बेहतरीन कामयाबी से पूरा परिवार फूला नहीं समा रहा और सभी जीत की दुआ करने में लगे हुए हैं। नीलम ने बताया कि उसकी सफलता से गदगद होकर सेना के सेवानिवृत्त हवलदार बाबा तोताराम पहलवान, बाबा हरिदयाल सिंह, दादी राजेश ने सहयोग करने के लिए हाथ बढ़ाने शुरू कर दिए हैं। गांव के जो लोग पूर्व में मल्ल विद्या के नाम पर टीका-टिप्पणी किया करते थे। आज वही उसको भरपूर सम्मान दे रहे हैं। उसे अपनी कड़ी मेहनत पर भरोसा है कि इस विश्वस्तर की प्रतियोगिता से देश के लिए गोल्डमेडल जीतकर ही लौटेगी। फिलहाल वह कुश्ती का प्रशिक्षण अकेडमी जेएसडब्लू बिल्लारी कर्नाटक में ले रही है। जनपद की अन्य बालिकाओं को भी इस विधा के प्रति जागरुक होकर ब्रज का परिचम लहराना चाहिए सहयोग करने के लिए वह हमेशा तैयार है।

मथुरा की नीलम पहलवान यूरोप में दिखाएगी अपना दमखम

मथुरा से अन्य समाचार व लेख

» सुलझी मासूम की मर्डर मिस्ट्री, पुलिस ने 24 घण्टे में सुलझाया मामला

» वृन्दावन के उल्लू बाग क्षेत्र में पुलिस और एसओजी टीम ने दी दबिश,

» पेड़ पौधे और जल हमारे वातावरण के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण:-विधायक ठा. कारिंदा सिंह

» बाजार में धूम मचा रही हैं तिरंगा पोशाक,विदेशों में भी इसकी मांग

» मथुरा बना अफवाहों का शहर,कच्छा धारी गैंग के नाम पर उड़ रही अफवाह,

 

नवीन समाचार व लेख

» निगोहा क्षेत्र मैं जहरीली कच्ची शराब के साथ तस्कर को दबोचा भेजा जेल

» मानव सहायता अवाम संस्था का सराहनीय कदम

» एसएसपी कलानिधि नैथानी ने आगामी बकरीद एवं रक्षाबंधन त्योहारों को सकुशल निपटाने के लिए कसी कमर

» मथुरा की नीलम पहलवान यूरोप में दिखाएगी अपना दमखम

» सावन के अंतिम सोमवार एवं बकरीद को देखते हुए, डीएम ने किया विभिन्न स्थलों का दौरा