यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

मथुरा मे नहीं हुई सुनवाई तो तीन तलाक पीड़िता की मां ने खा लिया जहर


🗒 रविवार, सितंबर 08 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

पुलिस की लापरवाही से दबंगों के आतंक से परेशान दंपती ने थाने के अंदर आग लगाकर जान दे दी। इस वारदात के बाद भी पुलिस का रवैया नहीं सुधरा। तीन तलाक पीडि़ता की मां पुलिस के रवैये से इतनी दुखी हुई कि उसने जहर खा लिया। परिजन लेकर थाने पहुंचे, दबाव में आई पुलिस ने आनन-पानन में उसे उपचार के लिए सीएचसी भेज दिया।  मथुरा के कोसीकालां शहर के मुहल्ला निकासा स्थित नाडूवास निवासी सलीम की पुत्री समरीन को उसके पति घीया मंडी मथुरा निवासी नाजिम ने तीन तलाक दे दिया। मारपीट कर उसे मायके छोड़ गए। नौ अगस्त को इस मामले में पीडि़ता की मां फरीदा ने नाजिम सहित ससुरालीजनों पर मुकदमा दर्ज कराया था। लेकिन पुलिस ने इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं की। बीती रात भी आरोपित पक्ष के लोग पुलिस की कार्रवाई न होने का हवाला देकर परिवार को धमकाकर गए थे। इससे दुखी होकर पीडि़ता की मां फरीदा (45) ने रविवार सुबह जहरीला पदार्थ खा लिया। लोग बेहोश फरीदा को लेकर थाने पहुंचे और पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए। आरोप लगे तो पुलिस एक्शन में आ गई। पुलिस फरीदा को लेकर अस्पताल की ओर दौड़ पड़ी। सीएचसी से चिकित्‍सकों ने उसकी गंभीर हालात को देख जिला अस्पताल रेफर कर दिया। तीन तलाक पीडि़ता समरीन का कहना है कि मुकदमे के बावजूद पुलिस मामले में कोई कार्रवाई नहीं कर रही। जबकि आरोपित उन्हें राजीनामा के लिए लगातार धमका रहे हैं और दबाव बना रहे हैं। जांच अधिकारी भी लगातार एक माह से उन्हें गुमराह कर तारीख पर तारीखदे रहे हैं। इसे लेकर हम लगातार जांच अधिकारी व थाने में जाकर शिकायत कर रहे हैं। इसी से अम्मी दुखी थीं और रात भर सोई नहीं थीं, सुबह उन्होंने जहरीला पदार्थ खा लिया। पीडि़ता के पिता सलीम ने बताया कि इसकी कई बार शिकायत भी थाना प्रभारी से की। फिर भी उनकी फरियाद नहीं सुनी।तीन तलाक पीडि़ता की मां द्वारा कार्रवाई न होने से दुखी होकर जहर खा लिए जाने के बाद पुलिस अपनी लापरवाही छिपाने में जुट गई। जहां एक ओर पुलिस का एक दल पीडि़ता को उपचार दिला रहा था, वहीं दूसरी ओर पुलिस ने मुहल्ले के नेताओं के माध्यम से पीडि़त पक्ष को थाने बुला लिया। जहां उन्होंने फरीदा के परिवार को धमकाने वाले आरोपित पक्ष के रिश्तेदारों के खिलाफ समरीन की तहरीर पर सात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। समरीन ने निजामुददीन, सलाउददीन , नगरिस, हनीफ, नासिर,नईम व इकबाल मेंबर पर पीडि़ता के घर में घुसकर मारपीट कर जान से मारने की धमकी देने, उसकी मां फरीदा को आत्महत्या के लिए प्रेरित करने की रिपोर्ट दर्ज कराई है। उधर, प्रभारी निरीक्षक दुर्गेश कुमार ने पीडि़त पक्ष के आरोपों को नकारते हुए कहा कि मुकदमा दर्ज होने के बाद में पीडि़त पक्ष का मेडिकल कराकर दबिश दी गई। जबकि मामले में दो आरोपितों ने न्यायालय में हाजिर होकर जमानत करा ली है।

मथुरा मे नहीं हुई सुनवाई तो तीन तलाक पीड़िता की मां ने खा लिया जहर

मथुरा से अन्य समाचार व लेख

» छटीकरा से विवाहिता गायब

» भूपेंद्र मिश्रा को बनाया उत्तर प्रदेश कबड्डी का टेक्निकल ऑफिसर

» वृन्दावन चंद्रोदय मंदिर में हुआ पांच हजार फलदार पौधों का वितरण

» होमगार्ड विभाग पर मेहरबान हो रही सरकार - जिला कमांडेंट राजेश

» 34वें राष्ट्रीय नेत्रदान पखवाड़ा के अंतर्गत नेत्रदान जागरूकता गोष्टी का किया आयोजन

 

नवीन समाचार व लेख

» फतेहपुर जंगल में प्रेमी युगल ने खाया जहर, प्रेमिका ने दर्ज कराया था दुष्कर्म का मुकदमा

» अलीगढ मे चार दिन से लापता किशोरी की हत्या कर शव घर के सामने फेंका

» मैनपुरी के जिला अस्पताल के पोषण पुनर्वास कक्ष से बच्चा चोरी, दो घंटे बाद बरामद

» मथुरा मे नहीं हुई सुनवाई तो तीन तलाक पीड़िता की मां ने खा लिया जहर

» मेरठ मे बीस हजार में थमा देते थे डॉक्‍टर, इंजीनियर की फर्जी डिग्री