यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

थाना वृन्दावन में फरियाद लेकर खड़ा हुआ है बड़ीआटस निवासी पीड़ित लाखन सिंह


🗒 शनिवार, जनवरी 23 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
थाना वृन्दावन में फरियाद लेकर खड़ा हुआ है बड़ीआटस निवासी पीड़ित लाखन सिंह

रविकांत मथुरा

मथुरा। वाह री जैंत, वृन्दावन, पीआरवी 1914 पुलिस तेरा कमाल है। लुटेरों को पकड़ने की वजाय पीड़ित को ही धमकाना शुरू कर दिया। बेचारा पीड़ित गरीब डरा हुआ चुप बैठने को मजबूर है। बता दें कि गत 22 जनवरी को थाना वृन्दावन की पुलिसचौकी जैंत क्षेत्र के अंतर्गत गांव बड़ीआटस निवासी लाखन सिंह पुत्र बाबूलाल के बाड़े से सकराया निवासी हुकम और उसका पिता सूरजो बघेल उसकी दो बकरियों को चुराकर ले जा रहा था। इस पर बहन रिंकी और मां मोहनदेवी की नजर पड़ गई। उन्होंने इसका विरोध किया तो दबंग आरोपियों ने जमकर दोनों को अश्लील गालियां दीं। मारपीट पर आमादा हो गए। जान से मारने की धमकी देते हुए दोनों बकरियों को जबरन छिना ले गए। इसकी शिकायत पीड़ित ने पुलिसचौकी जैंत, थाना वृन्दावन, यूपी डायल 112 पर की। पीड़ित के यहां सर्वप्रथम पीआरवी 1921 पहुंची। और यह कहकर चली आई कि हम लुटेरों को पकड़ने में सक्षम नहीं हैं। इसलिए लुटेरों को पकड़ने नहीं जा सकते। पीड़ित ने फिर से यूपी डायल 112 पर अपना रोना रोया। सूचना पर 23 जनवरी को पीआरवी 1914 पहुंची जरूर मगर उनका हाल देखिए कि पीड़ित को घर से बाहर बुलाया और जमकर गरियाते हुए कहा कि साले तू कितना बड़ा नेता है। तुझको ही ठिकाने लगा देंगे। यदि अब शिकायत करने की हिम्मत की तो तेरा और मां-बहन का भी बुरा हाल कर देंगे। हमने कोई लुटेरों का पकड़ने का ठेका नहीं ले रखा। हम नहीं जा रहे पकड़ने। हमारा तू कुछ बिगाड़ लेना। डरा-सहमा पीड़ित आखिर अपना सा मुंह लेकर घर की ओर चलता बना। और मजे की बात देखिए जैंत और थाना वृन्दावन पुलिस ने तो लिखित में सूचना होने पर भी घटना का संज्ञान तक भी नहीं लिया। दबंग लुटेरे पीड़ित को परिवार सहित नष्ट करने की धमकी दे रहे हैं। पीड़ित लुटी हुई अपनी बकरियों को पाने के लिए थक-हारकर केवल भगवान से डोर लगा रहा है। जिस पुलिस से न्याय की उम्मीद जागी होती है। वही पुलिस जब अपने कार्य से मुकरेगी तो पीड़ित को कैसे न्याय मिल पाएगा। योगी सरकार को ऐसी लापरवाह पुलिस का संज्ञान लेकर जरूर दुरुस्त करना चाहिए। जिससे पीड़ित को न्याय मिल सके। पीड़ित लाखन सिंह का कहना है कि वह इस घटना को लेकर आगामी सोमवार को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ. गौरव ग्रोवर से परिवार सहित मिलेगा। इस बारे कार्यवाहक प्रभारी निरीक्षक थाना वृन्दावन जगदीश चंद्र का कहना है कि अभी पुलिस भेजकर मामले को दिखवाते हैं। एसपी सिटी मार्तण्ड प्रकाश सिंह का कहना है कि घटना की जानकारी करवाकर आवश्यक कानूनी कार्रवाई करवाएंगे। पीआरवी कंट्रोल रूम मथुरा के प्रभारी सुभाष चंद्र पांडे का कहना है कि उन्हें इस बारे में जानकारी नहीं है। अभी जानकारी करवाकर विधिक कार्रवाई करेंगे।

मथुरा से अन्य समाचार व लेख

» दौड़ प्रतियोगिता में भेदभाव किए जाने से उग्र हुए खिलाड़ी, पुलिस और आयोजन कमेटी की एसएसपी से की शिकायत

» मथुरा के बहुचर्चित अपहरण कांड के मास्टर माइंड को लगी पुलिस की गोली

» अक्षय पात्र द्वारा 50 हजार वीं हैप्पीनेस किट का हुआ वितरण

» वृंदावन के आश्रय सदन में मिला पश्चिम बंगाल की महिला का जला शव

» सैंटा क्लॉस ने दिया लोगों को प्लास्टिक यूज ना करने का संदेश