यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

सुप्रीम कोर्ट से नवनिर्वाचित सांसद अतुल राय की याचिका हुई खारिज


🗒 सोमवार, मई 27 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

घोसी लोकसभा सीट से फरार चल रहे नवनिर्वाचित सांसद अतुल राय को सुप्रीम कोर्ट से झटका लगा है। दुष्कर्म के आरोपी अतुल राय ने गिरफ्तारी से बचाव की मांग करते हुए याचिका दाखिल की थी जिसे सुप्रीम कोर्ट ने एक बार फिर खारिज कर दिया है। घोसी सीट से गठबंधन से बीएसपी के फरार उम्मीदवार अतुल राय अपने प्रतिद्वंद्वी बीजेपी के हरिनारायण से एक लाख 22 हजार वोटों जीते हैं। मूल रूप से बलिया जनपद निवासी यूपी कॉलेज की एक पूर्व छात्रा ने उन पर दुष्कर्म का केस दर्ज करवाया था। इसके बाद न्यायिक मजिस्ट्रेट ने उनकी गिरफ्तारी के आदेश दिए थे। तभी से अतुल राय फरार चल रहे हैं। अतुल राय ने अपने खिलाफ दर्ज मामले में 23 मई तक राहत देने की मांग की थी जिसे सुप्रीम कोर्ट ने ठुकरा दिया था और 27 मई को इस संबंध में साक्ष्य पेश करने को कहा था। सोमवार को सुनवाई करते हुए कोर्ट ने उनकी याचिका को खारिज कर दिया।तब न्यायमूर्ति इंदिरा बनर्जी और न्यायमूर्ति संजीव खन्ना की अवकाश पीठ ने सुनवाई के दौरान कहा था,‘यह रद्द करने वाला मामला नहीं है।’ इस दौरान कोर्ट ने कहा था, ‘चुनाव लड़िए और यह मुकदमा भी।’ पीठ ने 27 मई को सुनवाई की तारीख रखी थी, आज मामले को पूरी तरह से खारिज कर दिया। इससे नवनिर्वाचित सांसद की मुश्किलें और बढ़ गई हैं।

सुप्रीम कोर्ट से  नवनिर्वाचित सांसद अतुल राय की याचिका हुई खारिज

मऊ से अन्य समाचार व लेख

» मऊ के चिरैयाकोट थाना क्षेत्र में नवजात का गला घोंट फांसी पर झूली विवाहिता

» मऊ मे चोरों ने बैंक शाखा का ताला गैस कटर से काटा, तिजोरी की एक लेयर ही काट सके

» जिला मऊ में दो शराबियों ने एक दूसरे का कान चबा डाला, खून खराबे के बाद अस्‍पताल में भर्ती

» जिला मऊ में बरात से लौट रही बोलरो गिरी खाई में, छह घायल, तीन की हालत नाजुक

» जिला मऊ में कृषक एक्सप्रेस के बोगी लिंक में लगी आग, यात्रियों में मचा हड़कंप

 

नवीन समाचार व लेख

» प्रयागराज के मऊआइमा में महिला की हत्‍या व कोरांव में किराना दुकानदार की मौत

» चंदोली मे 50 की उम्र में भतीजे से रचाई शादी, पुलिस बनी साक्षी

» सरकारी राजस्व बकाया नहीं देने पर प्रशासन ने तुलसियानी ग्रुप कार्यालय पर लगाया ताला

» UP में ध्वस्त कानून व्यवस्था के खिलाफ सपा सड़कों पर, कई जिलों में पुलिस से टकराव

» इलाहाबाद हाई कोर्ट का अहम फैसला, अध्यापक नियुक्ति का अनुमोदन सात दिन में न करने पर स्वत: हो जाएगी नियुक्ति