यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

मऊ में मुख्तार अंसारी वसूली गैंग के गुर्गे के एक करोड़ से अधिक के नौ वाहन सीज


🗒 गुरुवार, सितंबर 03 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
मऊ में मुख्तार अंसारी वसूली गैंग के गुर्गे के एक करोड़ से अधिक के नौ वाहन सीज

जनपद के सदर विधायक मुख्तार अंसारी के गिरोह की कमर तोडऩे में जुटा प्रशासन एक-एक कर उनके गिरोह के लोगों को निशाने पर ले रहा है। इसी क्रम में दो दिनों से उनके वसूली गैंग डी-32 के गुर्गा के रूप में चिह्नित सुरेश सिंह पर कार्रवाइयों का दौर जारी है। अभी मंगलवार को पुलिस ने जहां सुरेश की चार बसें सीज की थीं, वहीं दो दिन बाद गुरुवार को उसके नौ वाहनों को जब्त कर लिया है। जब्त किए गए वाहनों की कीमत 01 करोड़ 05 लाख 40 हजार रुपये बताई गई है।योगी सरकार ने अपराधियों के विरुद्ध अभियान छेड़ दिया है। पूर्वांचल में मु$ख्तार अंसारी के ङ्क्षसडिकेट को तोडऩे की पूरी तैयारी है। मुख्तार अंसारी गिरोह आई एस 191 के विरुद्ध मऊ, गाजीपुर, आजमगढ़ सहित अन्य जनपदों में धुंआधार कार्रवाई हो रही है। स्थानीय जनपद में पुलिस ने 55 ऐसे लोगो को चिह्नित किया है, जो रसूख वाले हैं और विभिन्न रूपों में विभिन्न कामों के माध्यम से मुख्तार अंसारी के आपराधिक जगत के एजेंडे को आगे बढ़ाते हैं। पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सोनकर का कहना है कि पुलिस एक-एक कर सभी नामचीनों पर कार्रवाई करेगी। गुरुवार को अंसारी के वसूली गैंग माफिया सुरेश ङ्क्षसह के 1 करोड़ 05 लाख 40 हजार के नौ वाहन पुलिस ने जब्त किए। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि अपराध और अवैध रूप से बनाई गई संपत्ति से इन वाहनों को अर्जित किया गया है। वाहन जब्तीकरण की यह कार्रवाई गैंगस्टर एक्ट के तहत की गई है। जब्त किए गए वाहनों में 67 लाख की तीन बसें, हुंडई क्रेटा कार, टाटा इंडिका कार, दो हीरो ग्लैमर मोटरसाइकिलें, एक स्पेलेंडर मोटरसाइकिल, एक स्कार्पियो शामिल हैं। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि सुरेश सिंह वसूली गैंग डी-32 का गुर्गा है तथा जनपद में वसूली माफिया के रूप में चिह्नित है। इसके विरुद्ध थाना सरायलखंसी पुलिस द्वारा बीती 31 मई को 3(1) गैंगेस्टर एक्ट की कार्यवाही की गई थी तथा वर्तमान में वह जेल में निरुद्ध है।मऊ जनपद सहित अन्य जनपदों में माफिया विधायक मुख्तार अंसारी का सिक्का चलता है। चाहे लोक निर्माण विभाग हो या जिला पंचायत, आरईएस। चाहे अवैध बूचडख़ाना हो या मछली व्यवसाय। हर जगह मुख्तार गिरोह का कब्‍जा है। बिकरू कांउ के बाद प्रदेश सरकार द्वारा अपराधियों के खिलाफ अभियान छेड़े जाने के बाद पूर्वांचल में मुख्तार गिरोह निशाने पर है। धड़ाधड गिरोह के शूटर जहां पकड़े जा रहे हैं, वहीं सिंडिकेट को तोडऩे में पुलिस प्रशासन पूरी शिद्दत से जुटा हुआ है। जिले में जहां गिरोह से जुड़े दर्जन भर लोगो को जेल भेज दिया गया है, तो मछली व बूचडख़ाना व्यवसाय को बंद कर दिया गया है।

मऊ से अन्य समाचार व लेख

» मऊ में मुख्तार अंसारी गिरोह के 12 गुर्गे जिला बदर, 26 शस्त्र लाइसेंस निलंबित

» मऊ में नाव पलटने से तीन की मौत, गोताखोरों के सहयोग से डूबे दो अन्‍य लोगों की तलाश जारी

» मुख्तार अंसारी गिरोह सहित पांच अपराधियों की खोली गई हिस्ट्रीशीट, मऊ में चला कार्रवाई अभियान

» मुख्तार अंसारी गिरोह की 60 लाख की मछलियां बरामद, फर्जी गोदाम का लाइसेंस बनाकर कर रहा था कारोबार

» मुख्तार अंसारी गिरोह के मछली कारोबारी की 8.17 करोड़ की संपत्ति कुर्क, पारस सोनकर पर है 25 हजार का इनाम

 

नवीन समाचार व लेख

» सहारनपुर मे दिनदहाड़े युवक की ताबड़तोड़ चाकू घोंपकर हत्या

» रिमांड खत्म होने के बाद फिर जेल भेजी गई हीर खान

» बीएचयू कोविड-19 वार्ड से एक और मरीज लापता होने के बाद हंगामा

» बलिया के रसड़ा में पुलिस पर पथराव, एएसपी, सीओ समेत आधा दर्जन जवान घायल

» मऊ में मुख्तार अंसारी वसूली गैंग के गुर्गे के एक करोड़ से अधिक के नौ वाहन सीज