यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

वाराणसी से बलिया जा रही काशी डिपो की एसी जनरथ बस में लगी आग


🗒 मंगलवार, अक्टूबर 27 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
वाराणसी से बलिया जा रही काशी डिपो की एसी जनरथ बस में लगी आग

मऊ, वाराणसी से बलिया जा रही काशी डिपो की एसी जनरथ बस में चलते-चलते अचानक आग लग गई। आग लगते ही तेज धमाका हुआ और यात्रियों में अफरा-तफरी मच गई। किसी तरह बस से उतर कर सभी दूर भाग चले और बस धू-धू कर जल उठी। संयोग अच्छा रहा कि सभी यात्री बाल-बाल बच गये किंतु बस में छूटे उनके सामान बस के साथ ही जलकर राख हो गए। बस में कुल 39 यात्री सवार थे।काशी डिपो की एसी जनरथ बस (यूपी 65 एफटी 0670) को लेकर वाराणसी निवासी चालक प्रमोद सिंह व बलिया निवासी परिचालक रोहित कुमार लेकर चले। उस समय 52 सीटर बस में 61 सवारियां थीं। रास्ते में और सवारियां उतर गईं। गाजीपुर जनपद के सीमावर्ती बाजार मटेहूं में एक यात्री के उतरने के बाद चालक-परिचालक के अलावा  39 यात्री बस में थे। मटेहूं चट्टी से बस आगे बढ़ी ही थी कि पुलिस चौकी के 100 मीटर आगे जोर का धमाका हुआ और दायें तरफ का पीछे का चक्का फट गया। बस के एक तरफ लुढ़कते ही यात्रियों में चीख-पुकार मच गई। सभी उतरने लगे, तब तक बस धू-धू कर जलने लगी। लपटें देख यात्री भाग खड़े हुए। बस में सवार भाजपा नेता त्रिवेणी प्रसाद एडवोकेट ने तुरंत मऊ फायर ब्रिगेड तथा गाजीपुर व मऊ के प्रशासन को सूचना दी। फायर ब्रिगेड की गाड़ियां पहुंचकर आग बुझाने में जुट गईं। सभी यात्री बाल-बाल बच गये किंतु बस में छूटे उनके सामान बस के साथ ही जलकर राख हो गए।बस में सवार बलिया चौक निवासी गोपालजी, मृत्युंजय सिंह ने बताया कि बस में कुछ जलने की बू काफी दूर से आ रही थी लेकिन किसी ने ध्यान नहीं दिया। अन्यथा हादसे को टाला जा सकता था। इन दोनों यात्रियों के झोले, बैग आदि जल गये जिनमें उनके जरूरी सामान थे। बस में सवार शहर के चांदपुरा निवासी इंतखाब आलम ने बताया कि वे लोग बनारस से आ रहे थे। उनके साथ परिवार और शहर की लगभग एक दर्जन बुर्कानशीं महिलाएं और बच्चे थे। आग लगते ही सभी रोने-चिल्लाने लगे। सबको किसी तरह धीरज बंधाकर बस से सुरक्षित उतारा गया लेकिन कई लोगों के चप्पल जूतों समेत साथ के सभी सामान बस में ही छूट गए जो जल गए।

मऊ से अन्य समाचार व लेख

» विदेश भेजने के नाम पर लिए थे रुपये

» मऊ में असलहा तस्करी में आरपीएफ और जीआरपी भी निशाने पर, ट्रेन से मुंगेर ले जाती थी तीन महिलाएं

» मऊ में आशा की लापरवाही से जच्चा-बच्चा की मौत

» मऊ में अवैध तरीके से घर में कोरोना रोधी वैक्सीन लगाने वाला वार्ड ब्वाय गिरफ्तार

» मऊ में फर्जी हस्ताक्षर से 67.5 लाख का घोटाला, एफआइआर