यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

विदेश भेजने के नाम पर लिए थे रुपये


🗒 गुरुवार, सितंबर 02 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
विदेश भेजने के नाम पर लिए थे रुपये

मऊ। घोसी कोतवाली के थानीदास में विगत 25 जून को दिनदहाडे पिंटू राजभर की हुई हत्या का गुरुवार को पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया। पुलिस ने इस मामले में 25 हजार के इनामी बदमाश लालू यादव को गिरफ्तार किया है। पुलिस के मुताबिक पिंटू ने आजमगढ़ जनपद के जीयनपुर निवासी आशुतोष ओझा से उसके भाई को विदेश भेजने के नाम पर 85 हजार रुपए लिए थे। भाई को विदेश नहीं भेजे जाने पर जब आशुतोष ने रुपये मांगे तो पिंटू ने साफ इंकार कर दिया। इससे क्षुब्ध होकर आशुतोष ने 25 हजार के इनामी अपराधी लालू यादव व अपराधी रविंद्र यादव के साथ मिलकर पिंटू की हत्या कर दी। मामले में रविंद्र यादव आजमगढ़ में पहले ही सरेंडर कर चुका है जबकि आशुतोष मुंबई भाग गया है।उक्त जानकारी एएसपी त्रिभुवन नाथ त्रिपाठी ने गुरुवार को एसपी कार्यालय में आयोजित प्रेसवार्ता में दी। बताया कि घोसी कोतवाली के नवकापुर निवासी पिंटू राजभर अमिला में कौशल विकास प्रशिक्षण केंद्र चलाता था। वह लोगों काे विदेश में नौकरी लगवाने के नाम पर भेजने का भी काम करता था। इसी सिलसिले में उसने कुछ माह पूर्व आजमगढ़ के जीयनपुर थाना क्षेत्र के नथनुपुर निवासी आशुतोष झा से उसके भाई को विदेश भेजने के लिए 85 हजार रुपए लिए थे। लेकिन कोरोना काल के चलते पिंटू उसके भाई को विदेश नहीं भेज सका। काफी इंतजार के बाद आशुतोष ने पिंटू से कई बार 85 हजार रुपये वापस करने को कहा लेकिन वह देने में आनाकानी करता रहा। इससे आजीज होकर आशुतोष जमीन कपारगढ़ निवासी अपराधी लालू यादव और रसूलपुर हमीरपुर निवासी रविंद्र यादव के साथ घटना वाले दिन पिंटू के प्रशिक्षण केंद्र पहुंचे।वहां तीनों ने पिंटू से बकाया रुपये मांगे जिसे देने से उसने साफ इंकार दिया। इससे क्रोधित होकर तीनों ने ताबड़तोड़ गोलियां दागकर पिंटू को वहीं छलनी कर फरार हो गए। एएसपी के अनुसार पुलिस मामले की जांच में जुटी थी कि गुरुवार को तड़के सटीक सूचना मिने पर घोसी पुलिस, सर्विलांस, एसओजी संग स्वाट टीम ने पीवाताल के पास चेकिंग के दौरान बाइक सवार लालू यादव को घेराबंदी कर धर दबोचा। इसके पास से .32 बोर की पिस्टल, तीन जिंदा कारतूस, पांच हजार 850 रुपये समेत घटना में प्रयुक्त बाइक यूपी 60-6394 बरामद हुआ। जांच में बाइक चोरी की निकली जिसपर बदमाश फर्जी नंबर प्लेट लगाकर चल रहे थे।पुलिस के अनुसार गिरफ्त में आया इनामी अपराधी लालू यादव 14 जून को मुहम्मदाबाद कोतवाली के चंद्रापार सर्राफा व्यवसायी अमित कुमार वर्मा संग हुई लूट की घटना में भी शामिल था। उसमें कुल पांच बदमाश शामिल थे जिनकी तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है। घटना का पर्दाफाश करने में स्वाट टीम प्रभारी राजेश प्रसाद यादव, इंस्पेक्टर घोसी संजीव कुमार दूबे, एसआई अमित मिश्रा, एसओजी प्रभारी शामिल थे।

मऊ से अन्य समाचार व लेख

» मऊ में असलहा तस्करी में आरपीएफ और जीआरपी भी निशाने पर, ट्रेन से मुंगेर ले जाती थी तीन महिलाएं

» मऊ में आशा की लापरवाही से जच्चा-बच्चा की मौत

» मऊ में अवैध तरीके से घर में कोरोना रोधी वैक्सीन लगाने वाला वार्ड ब्वाय गिरफ्तार

» मऊ में फर्जी हस्ताक्षर से 67.5 लाख का घोटाला, एफआइआर

» मऊ में मुख्तार अंसारी गिरोह से संबंधित 45 शस्त्र लाइसेंस निलंबित