यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

मुख्तार अंसारी के करीबी उमेश सिंह के माॅल पर ध्वस्तीकरण की कार्रवाई


🗒 शनिवार, सितंबर 25 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
मुख्तार अंसारी के करीबी उमेश सिंह के माॅल पर ध्वस्तीकरण की कार्रवाई

मऊ, । मुख्‍तार अंसारी के करीबी के माॅल पर ध्‍वस्‍तीकरण की कार्रवाई की जा रही है। मऊ में नगर के भीटी स्थित मुख्तार अंसारी के करीबी उमेश सिंह का अवैध रूप से बने मकान पर प्रशासन व नगर पालिका की टीम शनिवार की सुबह पहुंच गई और ध्वस्तीकरण की कार्रवाई शुरू कर दी है। इस बाबत एसडीएम केहरी सिंह ने बताया कि ध्वस्तीकरण की प्रक्रिया विधिक रूप से पूरी की जा रही है। मऊ में अवैध निर्माण को लेकर ध्‍वस्‍तीकरण की कार्रवाई के दौरान एडीएम केहरी सिंह के अलावा काफी सुरक्षा बल भी मौजूद रहे।सुबह से ही ध्‍वस्‍तीकरण की कार्रवाई को लेकर मंथन और अनुपालन का दौर चल रहा था। पूर्व में ही इस बाबत संबंधित को नोटिस जारी की जा चुकी थी। अब उसी के अनुपालन के क्रम में सुबह से ही प्रशासनिक अधिकारियों और सुरक्षा दस्‍तों के अलावा ध्‍वस्‍तीकरण की टीम भी मौके पर पहुंची और विधिक कार्रवाई की शुरुआत की। इस दौरान सड़क के किनारे आते जाते लोगों की भीड़ भी लगने लगी तो सुरक्षा बलों ने सभी को वहां से चलता कर दिया। प्रशासनिक अधिकारियों की नजर इन दिनों माफ‍िया के करीबी लोगों पर लगी हुई है। माफ‍िया पर कार्रवाई के अलावा उनकी और करीबियों की अवैध और गैर कानूनी संपत्ति पर प्रशासन कार्रवाई कर रहा है।इसी कड़ी में शनिवार को मुख्तार अंसारी के बेहद करीबी त्रिदेव कंस्ट्रक्शन के मुखिया कोयला माफिया उमेश सिंह के नगर कोतवाली क्षेत्र के भीटी स्थित सिटी माल पर प्रशासन का बुलडोजर गरजा। इस दौरान एडीएम केहरी सिंह सहित तीन थानों की पुलिस मौजूद थी। बाद में खुद एसपी सुशील घुले भी मौके पर पहुंच गए थे। बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी इन दिनों बांदा जेल में बंद है। उनके करीबियों के खिलाफ लगातार प्रशासन द्वारा कार्रवाई की जा रही है। पिछले साल इस बिल्डिंग को अवैध बताते हुए यहां के माल को खाली करा दिया गया था।इसके बाद इसे सीज कर दिया गया था। अवैध रूप से निर्मित माल का मुकदमा सिटी मजिस्ट्रेट के कोर्ट में स्टेट बनाम उमेश सिंह, अजय सिंह, विजय सिंह, विनय सिंह के विरुद्ध चल रहा था। इसकी सुनवाई करते हुए शुक्रवार को कोर्ट में ध्वस्तीकरण का आदेश जारी किया था। आदेश के क्रम में शनिवार की सुबह एडीएम केहरी सिंह, सीओ सिटी धनंजय मिश्रा, ईओ नगर पालिका दिनेश कुमार, शहर कोतवाल डीके श्रीवास्तव, सरायलखंसी थाना प्रभारी राम सिंह, हलधरपुर प्रभारी निहार नंदन सहित नगर पालिका के कर्मचारी व भारी बल में पुलिस बल के साथ पहुंच गए। सुबह से ही बुलडोजर इसे गिराने में जुटा रहा। सुबह से शुरू हुई कार्रवाई देर शाम तक चलती रही। इस दौरान आला अफसर मौके पर मौजूद रहे। प्रशासन की इस कार्रवाई से मुख्तार के करीबियों में हड़कंप की स्थिति रही।