यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

मासूमों को अगवा करने वाले बदमाश को ग्रामीणों ने दौड़ाकर पकड़ा


🗒 रविवार, सितंबर 26 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
मासूमों को अगवा करने वाले बदमाश को ग्रामीणों ने दौड़ाकर पकड़ा

मऊ। मुहम्मदाबाद गोहना कोतवाली थाना क्षेत्र के खैराबाद गांव में एक मासूम बालक को अगवा करने की नीयत से दौड़ा रहे बदमाश को ग्रामीणों ने धर दबोचा। उसकी जमकर धुनाई के बाद पुलिस के हवाले कर दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने उसे हिरासत में लेकर कोतवाली चली गई। गांव निवासी अनीस अहमद का 8 वर्षीय पुत्र फरहान अहमद गांव के बाजार में स्थित एक मदरसे में आयोजित जमीअतुल उलमा के कार्यक्रम में गया था। कार्यक्रम से फारिग होकर गांव के नेसार हाफिज एवं अब्दुल जब्बार के घर के मासूम बालकों के साथ अपने घर आ रहा था।बाजार से जैसे ही कैलेंडर जाने वाले रास्ते पर पहुंचा कि तीनों बच्चों को तीन अज्ञात बदमाश पकड़ने लगे। इस पर दो तो किसी तरह से छुड़ाकर कर भाग निकले। तीसरे मासूम बालक फरहान ने भी बदमाशों के चंगुल से बचकर भाग निकला।इस बालक को बदमाशों ने तीन बार पकड़ा और यह छुड़ाकर अपने घर की तरफ चांदनी चौक पर दौड़ता हुआ जा पहुंचा। वहां उपस्थित ग्रामीणों को घटना की जानकारी दी। इस पर रास्ते से जा रहे बदमाशों को ग्रामीणों ने दौड़ा लिया परंतु दो बदमाश भागने में सफल रहे जबकि एक को लोगों ने धर दबोचा। उसकी जमकर पिटाई के बाद एक कमरे में उसे बंद कर दिया और इसकी सूचना कोतवाली पुलिस को दी। खैराबाद के चौकी प्रभारी ओम सिंह अपने दल बल के साथ घटनास्थल पर पहुंच गए और वहां सैकड़ों की उपस्थित भीड़ को किसी तरह से समझा बुझा कर समाप्त कराया। आक्रोशित ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि आरोपित के विरुद्ध कड़ी से कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी। इसे किसी भी हाल में बख्शा नहीं जाएगा। इसके माध्यम से इसके दो और आरोपियों तक पहुंचने का प्रयास किया जाएगा। पुलिस ने पकड़े गए बदमाश से पूछताछ करती रही। वह कभी अपना गांव खुरहट तो कभी घोसी बताता रहा। समाचार लिखे जाने तक किसी तरह का कोई मुकदमा दर्ज नहीं हुआ था।

मऊ से अन्य समाचार व लेख

» मुख्तार अंसारी के करीबी उमेश सिंह के माॅल पर ध्वस्तीकरण की कार्रवाई

» मऊ में दुधमुंहे बालक को कुत्ते ने नोच डाला

» विदेश भेजने के नाम पर लिए थे रुपये

» मऊ में असलहा तस्करी में आरपीएफ और जीआरपी भी निशाने पर, ट्रेन से मुंगेर ले जाती थी तीन महिलाएं

» मऊ में आशा की लापरवाही से जच्चा-बच्चा की मौत