यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

मेरठ में मृतक के बेटे में कोरोना की पुष्टि, बुलंदशर में चार नए कोरोना मरीज


🗒 रविवार, अप्रैल 19 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

मेरठ मेडिकल कॉलेज में भर्ती किए गए मरीज की शनिवार को मौत हो गई थी। मौत के बाद उसमें कोरोना के लक्षण पाए गए थे। जिसके बाद से स्‍वास्‍थ्‍य विभाग ने उसके परिवार के सैंपल लिए थे। इसमें मृतक के बेटे में कोरोना की पुष्टि हुई है। साथ ही एक हापुड़ के भी मरीज में कोरोना की पुष्टि की गई है। रविवार को 350 सैंपलों की रिपोर्ट आई है।मेरठ मेडिकल कॉलेज में रविवार को कोरोना सैंपल की रिपोर्ट आई। इसमें 350 सैंपलों की जांच में एक मेरठ और एक हापुड़ के युवक में कोरोना की पुष्टि की गई है। वहीं बुलंदशहर में भी चार नए मरीजों में कोरोना संक्रमण पाया गया है। प्राचार्य डा. आरसी गुप्‍ता ने बताया कि मेरठ के कुल 350 सैंपलों में मेरठ के 71 सैंपलों की जांच की गई। इसमें मृतक के पत्‍नी औ बेटियों के भी सैंपल जांच किए गए और उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई। बता दे कि शनिवार को सांस की समस्‍या गंभीर होने पर मृतक को भर्ती किया गया था। जिसके बाद ही इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी। हा‍लाकि प्रशासन ने पहले ही इसके सैंपल ले लिया था।बुलंदशहर में एक महिला समेत चार लोग संक्रमित मिले हैं। यहां संख्या 20 हो गई है। जिले के दो कोरोना संक्रमित मरीज ठीक होने के बाद आज मेरठ मेडिकल कालेज से डिस्चार्ज कर दिए गए। मेरठ में कोटा से मेरठ 14 छात्रों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। बागपत में भी कोटा से लौटे तीन छात्रों समेत सात लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। शामली में कोटा से आए पांच छात्रों को क्वारंटाइन किया गया है।कोटा से लौटे छात्रों को जांच के बाद घर में क्वारंटाइन किया गया है। सहारनपुर, बिजनौर व बुलंदशहर में छात्रों की थर्मल स्कैनिंग कर घर भेज दिया गया। जबकि मेरठ, बागपत और शामली में छात्रों की रैपिड किट से जांच की गई। रिपोर्ट निगेटिव आने पर छात्रों को घर भेजा गया है। मुजफ्फरनगर में लौटे छात्रों की रैपिड किट से जांच की गई। रिपोर्ट अभी नहीं आई है। छात्रों को फिलहाल एक होटल में ठहराया गया है। देर रात तक रिपोर्ट आने की उम्मीद है। राजनगर निवासी मेडिकल कॉलेज में कोविड वार्ड से पहले इमरजेंसी में घंटों भर्ती रहा। उसके संपर्क में आने वाले डॉक्टरों समेत दर्जनों अन्य पर संक्रमण का खतरा बन गया है। इमरजेंसी के कर्मचारियों ने क्वारंटाइन में भेजने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया। आरोप है कि मेडिकल प्रशासन सिर्फ जूनियर डॉक्टरों को क्वारंटाइन भेज रहा, जबकि पैरामेडिकल ज्यादा संक्रमित हो रहे हैं। 

मेरठ में मृतक के बेटे में कोरोना की पुष्टि, बुलंदशर में चार नए कोरोना मरीज

मेरठ से अन्य समाचार व लेख

» मेरठ में कोरोना का कहर- एक की मौत, 27 नए पॉजिटिव, बुलंदशहर में भी तीन की मौत

» कोरोना से मेरठ में 47वीं मौत, 23 नए पॉजिटिव केस मिलने से मचा हड़कंप, बुलशहर में भी 20 नए मरीज

» मुजफ्फरनगर में सात और मेरठ में एक पॉजिटिव,बुलंदशहर के संक्रमित मरीज ने दम तोड़ा, बागपत में 14 नये केस

» मेरठ की पहली महिला कप्‍तान की हो रही है वापसी, शुक्रवार को संभालेंगी PTS का चार्ज

» मेरठ में तेजी से हो रही कोरोना से मौत, तीन और मरीजों ने तोड़ा दम, 12 नए संक्रमित

 

नवीन समाचार व लेख

» बांदा - भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ी ग्राम पंचायत सभासदों ने की कमिश्नर से शिकायत

» बांदा की बहुचर्चित सोना खदान मैं अवैध खनन को लेकर जिलाधिकारी अमित सिंह बंसल ने की बड़ी कार्यवाही 14 पोकलैंड हेवी मशीने सीज की

» बांदा -जन समस्याओं को लेकर कांग्रेसियों ने डीएम को सौंपा ज्ञापन

» बांदा -ऑन ड्यूटी डीआईजी के ड्राइवर की मौत पोस्टमार्टम के बाद स्पष्ट होगा मौत का कारण

» जनपद हमीरपुर में मिले एक साथ 13 नए पॉजिटिव केस