मेरठ में व्यापारी के अपहरण का मचा हल्ला, दिन भर तलाश करती रही पुलिस, गढ़ थाने की हवालात में मिला

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

मेरठ में व्यापारी के अपहरण का मचा हल्ला, दिन भर तलाश करती रही पुलिस, गढ़ थाने की हवालात में मिला


🗒 शुक्रवार, जुलाई 31 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
मेरठ में व्यापारी के अपहरण का मचा हल्ला, दिन भर तलाश करती रही पुलिस, गढ़ थाने की हवालात में मिला

हापुड़ के व्यापारी का दिनदहाड़े नई सड़क से अपहरण होने का हल्ला मच गया। नौचंदी पुलिस जब तक मौके पर पहुंची, कार सवार व्यापारी को उठाकर ले गए। पुलिस ने काफी पड़ताल के बाद परिवार की तरफ से अपहरण का मुकदमा दर्ज कर लिया। जोन के सभी जनपदों में मैसेज पहुंचा। लखनऊ से भी फोन घनघनाने लगे। रात आठ बजे पता चला कि व्यापारी गढ़मुक्तेश्वर थाने की हवालात में है। उस पर तीन गाडिय़ों की गलत नंबर प्लेट बनाने का आरोप है।हापुड़ के रहने वाले ईश्वर सिंह के बेटे मनीष ने नौचंदी थाने के नई सड़क पर वाहनों पर नंबर प्लेट लगाने की दुकान खोल रखी है। शुक्रवार को कार सवार कुछ लोग आए, जो मनीष को स्कार्पियो में डालकर ले गए। पड़ोस में मनीष के मामा की दुकान है। उन्होंने हापुड़ में मनीष के स्वजनों को जानकारी दी। साथ ही यूपी 112 पर अपहरण की सूचना दी।नौचंदी थाने के एसएसआइ वरुण कुमार और इंस्पेक्टर क्राइम राम सजीवन फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। आसपास के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली। उसके बाद जोन के सभी जनपदों के थाने, एसटीएफ और क्राइम ब्रांच की टीम से जानकारी ली। देर शाम तक मनीष का कोई पता नहीं चल पाया। इंस्पेक्टर राम सजीवन ने बताया कि मनीष के पिता की तहरीर पर अपहरण का मुकदमा दर्ज करा दिया गया। कानपुर में हुई अपहरण की घटनाओं को देखते हुए लखनऊ डीजीपी कंट्रोल को भी अवगत कराया गया।सभी थानों में मनीष के अपहरण की सूचना वायरलेस सेट के जरिए दी गई। तब पता चला कि हापुड़ के गढ़मुक्वेश्वर थाने की हवालात में मनीष को रखा गया है। इंस्पेक्टर ने बताया कि मनीष ने गुरुवार की रात तीन गाडिय़ों की फर्जी नंबर प्लेट जारी की थी। इस मामले में गढ़ पुलिस उसे उठाकर ले गई थी।दूसरे जनपद की पुलिस संबंधित थाने में आमद दर्ज कराएगी। उसके बाद स्थानीय पुलिस को साथ लेकर आरोपित को पकड़ेगी। ताकि दूसरे जनपद की पुलिस पर भी कोई हमला न कर सके। गढ़मुक्तेश्वर पुलिस ने संबंधित थाने को सूचना दिए बिना ही आरोपित मनीष को उठा लिया, जिससे पूरा दिन नौचंदी पुलिस मनीष की तलाशती रही।एसएसपी अजय साहनी ने बतया कि अज्ञात के खिलाफ मनीष के अपहरण का मुकदमा दर्ज किया गया था। मनीष फर्जी नंबर प्लेट बनाने का आरोपित है। ऐसे में मुकदमा खत्म कर दिया जाएगा। हापुड़ के एसपी से इस संबंध में बातचीत की गई हैं। गढ़मुक्तेश्वर पुलिस से भी इस मामले में स्पष्टीकरण मांगा जाएगा।  

मेरठ से अन्य समाचार व लेख

» सेना में नौकरी दिलाने वाले गैंग का भंडाफोड़, पूर्व सैनिक समेत दो गिरफ्तार

» मेरठ मे नशीला इंजेक्शन लगाकर न्यूटीमा अस्‍पताल के ओटी में टेक्नीशियन ने दी जान

» मेरठ में जमींदोज हुई कुख्‍यात बद्दो की आलीशान कोठी

» आर्मी इंटेलिजेंस ने दबोचा फर्जी पेंशन कागजात बनाने वाला गिरोह, पूर्व सैनिक सहित पांच गिरफ्तार

» मेरठ के सरधना में संप्रदायिक बवाल, आठ लोग घायल