मेरठ में बाइक स्‍टंट करते युवक ने चार साल की बच्‍ची को मारी टक्‍कर, हालत गंभीर

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

मेरठ में बाइक स्‍टंट करते युवक ने चार साल की बच्‍ची को मारी टक्‍कर, हालत गंभीर


🗒 शनिवार, अक्टूबर 31 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
मेरठ में बाइक स्‍टंट करते युवक ने चार साल की बच्‍ची को मारी टक्‍कर, हालत गंभीर

मेरठ,  बाइक स्टंट के दौरान कई घटनाएं सामने आती है। मेरठ के एक इलाके में चार साल की बच्‍ची बाहर खेल रही थी। इतने में बाइक स्‍टंट का नमूना दिखाते युवक ने बच्‍ची को घायल कर दिया। घायल होने के बाद आरोपित फरार हो गया। बच्‍ची के घायल होते ही अफरा-तफरी मच गई। आसपास के लोगों ने बच्‍ची को अस्‍पताल पहुंचाया। जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। इधर, लोगों ने युवक पर कार्रवाई को लेकर खूब हंगामा किया।मेरठ के लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र की शौकीन गार्डन कॉलोनी निवासी इस्तकार की चार वर्षीय बच्ची आफरीन घर के बाहर खेल रही थी। इस दौरान मोहल्ले का ही शादाब बाइक से स्टंट कर रहा था। लोगों ने उसे मना किया, लेकिन वह नहीं माना। इस दौरान बाइक बच्ची से टकरा गई। घटना के बाद युवक बाइक लेकर भाग गया। आसपास के लोगों ने बच्ची को अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। वहीं, आसपास के लोगों ने हंगामा करते हुए युवक के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। स्वजनों ने थाने में तहरीर दे दी है। थाना प्रभारी प्रशांत कपिल का कहना है कि युवक की तलाश की जा रही है। रिपोर्ट दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा।आसपास के लोगों ने बताया कि अक्‍सर इस क्षेत्र में युवक बाइक स्‍टंट करते रहते हैं। कई बार इनको मना भी किया गया। पर वे अपनी हरकत से बाज नहीं आते। लोगों ने कहा कि हमे इसी बात का डर था कि कहीं इससे कोई हादसा न हो जाए और आज हो भी गया। लोगों ने स्‍टंट दिखाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।भावनपुर के अब्दुल्लापुर में अस्पताल के अंदर उपचार के दौरान दो बच्चों की मौत हो गई जिस पर परिवार के लोगों ने हंगामा कर दिया पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मामले को शांत किया। भावनपुर के अब्दुल्लापुर स्थित अस्पताल में गांव की एक महिला को को डिलीवरी के लिए भर्ती कराया गया था। शनिवार को महिला ने 2 बच्चों को जन्म दिया। परिवार के लोगों का आरोप है कि बच्चों को जन्म देने डॉक्टर वहां से निकल गए। उसके बाद उपचार सही में मिलने पर दोनों बच्चों की मौत हो गई। जिस पर परिवार के लोगों ने डॉक्टरों के खिलाफ जमकर हंगामा कर दिया भावनपुर पुलिस ने मौके पर पहुंच करमामले को शांत किया। थाना प्रभारी रघुराज का कहना है कि पीड़ित पक्ष की तहरीर पर मुकदमा किया जाएगा।