मेरठ मेडिकल कालेज के कोविड वार्ड में चिकित्सक और सफाई कर्मियों के बीच मारपीट, तोड़फोड़

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

मेरठ मेडिकल कालेज के कोविड वार्ड में चिकित्सक और सफाई कर्मियों के बीच मारपीट, तोड़फोड़


🗒 शुक्रवार, अप्रैल 30 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
मेरठ मेडिकल कालेज के कोविड वार्ड में चिकित्सक और सफाई कर्मियों के बीच मारपीट, तोड़फोड़

मेरठ, मेडिकल कालेज के कोविड वार्ड में शुक्रवार को ड्यूटी कर रहे कनिष्ठ चिकित्सक व सफाई कर्मचारियों के बीच मारपीट हो गई। पहले कनिष्ठ चिकित्सकों ने मिलकर सफाई कर्मचारी की पिटाई कर दी। घटना से गुस्साए कर्मचारियों ने कोविड वार्ड में तोडफ़ोड़ करते हुए कनिष्ठ चिकित्सकों पर हमला कर दिया। जिसकी वजह से मेडिकल कालेज में अफरा तफरी मच गई। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर दोनों पक्षों को शांत किया। कनिष्ठ चिकित्सकों ने मेडिकल कालेज के प्रिंसीपल को हड़ताल की चेतावनी दी है।मेडिकल कालेज के कोविड आईसीयू वार्ड-दो में डिग्गी निवासी नदीम पुत्र सिराजुद्दीन सफाई कर्मचारी है। नदीम के मुताबिक शुक्रवार दोपहर आईसीयू वार्ड में एक मरीज के पेट में दर्द हो रहा था। उन्होंने कनिष्ठ चिकित्सक सुभर्त से मरीज को इंजेक्शन लगाने के लिए बोल दिया। इसी बात को लेकर सुभर्त व नदीम की कहासुनी हो गई। इतने में सुभर्त ने अपने चिकित्सक साथी हितेश, निशांत यादव व विशाल चौहान को भी बुला लिया। आरोप है कि उन्होंने मिलकर नदीम की पिटाई कर दी। नदीम ने मेडिकल कालेज में काम कर रहे अन्य कर्मचारियों को घटना की जानकारी दी। बड़ी संख्या में कोविड वार्ड के बाहर सफाई कर्मचारी एकत्र हो गए। कहासुनी के बाद उनमे दोबारा मारपीट शुरु हो गई। जिसकी वजह से मेडिकल कालेज में भगदड़ मच गई। सफाई कर्मचारियों ने कोविड वार्ड के मैन गेट पर तोडफ़ोड़ करते हुए कनिष्ठ चिकित्सकों पर पथराव कर दिया। मेडिकल पुलिस ने बामुश्किल दोनों पक्षों को शांत कराया। मारपीट में कनिष्ठ चिकित्सक सुभर्त, हितेश, निशांत घायल हो गए। दूसरे पक्ष से नदीम और उसका एक अन्य साथी घायल हो गए।कनिष्ठ चिकित्सकों व महिला नर्स का आरोप है कि कोविड वार्ड में तैनात सफाई कर्मचारी गांजा पीने के बाद काम करते है। कुछ दिनों पहले महिला नर्स ने उन्हें समझाने का प्रयास किया तो उनसे भी अभद्रता की गई थी। जिसकी महिला नर्स ने प्रिङ्क्षसपल को लिखित शिकायत दी हुई है।सफाई कर्मचारियों का आरोप है कि कोविड वार्ड में कनिष्ठ चिकित्सकीय मरीजों के साथ गलत व्यवहार करते है। पूर्व में उन्होंने लापरवाही की वीडियो बनाकर इंटरनेट मीडिया पर वायरल कर दी थी। जिसकी वजह से चिकित्सक उनसे रंजिश रखते है। वार्ड में ड्यूटी के समय कनिष्ठ चिकित्सक उनका मोबाइल भी बाहर रखवा देते है।

मेरठ से अन्य समाचार व लेख

» मेरठ में पत्नी का गला दबाने का आरोपित दिल्ली से गिरफ्तार

» मेरठ में महिला कांस्टेबल के साथ हैवानियत, जेठ ने फाड़े कपड़े, ससुर ने किया दुष्कर्म

» गैस कटर से काटी एटीएम मशीन, दस लाख कैश ले जाने से पहले पकड़े गए

» दूसरा निकाह करने पहुंचा, पहली पत्नी ने चप्पल से पीटा,थाने तक हुआ हंगामा

» मेरठ में मकान पर कब्जे को लेकर एक घंटे तक बवाल, वाहनों में तोड़फोड़

 

नवीन समाचार व लेख

» मुख्तार अंसारी के 14 दिन के रिमांड को तामिला कराएगी पुलिस

» मेरठ में पत्नी का गला दबाने का आरोपित दिल्ली से गिरफ्तार

» मेरठ में महिला कांस्टेबल के साथ हैवानियत, जेठ ने फाड़े कपड़े, ससुर ने किया दुष्कर्म

» कानपुर के बर्रा में बाबा बनकर टप्पेबाजी करने वाले दो शातिरों को भीड़ ने पकड़कर पीटा

» भाजपा विधायक आवास में बंधक बनाकर बेटी से किया दुष्कर्म