यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

करोड़ों का मालिक होने पर भी कुर्क हुई 90 लाख की संपत्ति


🗒 शनिवार, जुलाई 17 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
करोड़ों का मालिक होने पर भी कुर्क हुई 90 लाख की संपत्ति

मेरठ। हाजी गल्ला के बाद चोरी के वाहन काटने में मन्नू उर्फ मुइनुद्दीन का सोतीगंज में वर्चस्व कायम है। जेल में बंद मन्नू कबाड़ी की करीब 90 लाख रुपये की संपत्ति को पुलिस ने कुर्क कर लिया। इसमें मुंडाली क्षेत्र में स्थित 75 लाख का प्लाट भी है, जिस पर पुलिस ने सील लगा दी है। दोनों ही जगहों पर पुलिस ने ढोल बजाकर कुर्की की कार्रवाई की। पुलिस ने मन्नू की अवैध रूप से कमाई संपत्ति की जांच की, जिसमें सामने आया कि मन्नू के रिश्तेदार और परिवार के पास करोड़ों की संपत्ति है। लेकिन कागजों में मन्नू के नाम सिर्फ 90 लाख की संपत्ति मिली है, जिसे पुलिस ने कुर्क कर दिया है।छह माह पहले तत्कालीन एसपी सिटी ने मन्नू के सोतीगंज स्थित आवास पर छापा मारा था। उस दौरान इंटरनेट मीडिया पर मन्नू की कोठी की फोटो भी वायरल हुए थी। कोठी एक फाइव स्टार होटल की तरह अलीशान बनी हुई थी, जिसमें लाखों रुपये डेकोरेट करने में लगाए हुए थे। पुलिस की जांच में सामने आया था कि मन्नू की करीब सौ बसें रोडवेज से अनुबंध के तहत दिल्ली-मेरठ आदि रूट पर दौड़ रही हैं। पुलिस ने मन्नू कबाड़ी को जेल भेजने के बाद 14ए के तहत उसकी संपत्ति सीज करने के लिए पड़ताल की। सामने आया कि कागजों में मन्नू के पास एक प्लाट का बैनामा है। एक बस और एक बाइक उसके नाम है। बाकी संपत्ति मन्नू के रिश्तेदारों के नाम है। जिस मकान में वह रहता है, उसमें भी मन्नू को बतौर किराएदार दर्शाया गया है। इंस्पेक्टर विजेंद्र राणा का कहना है कि मन्नू के नाम 90 लाख की संपत्ति मिली है, जिसे कुर्क कर दिया गया है। हालांकि पुलिस पड़ताल कर रही है कि मन्नू की अवैध कमाई से किस रिश्तेदार और परिवार के सदस्य ने संपत्ति खरीदी है। यदि मन्नू की अवैध कमाई से किसी अन्य रिश्तेदार के पास संपत्ति है तो उसे भी कुर्क करने की कार्रवाई की जाएगी।गैंगस्टर एक्ट में निरुद्ध किए गए सभी कबाड़ियों की संपत्ति को सीज करने की कार्रवाई सदर बाजार पुलिस करेगी। मन्नू कबाड़ी के बाद अब राहुल काला की संपत्ति की पड़ताल पुलिस कर रही है। उसके बाद अन्य कबाड़ियों की भी संपत्ति कुर्क करने की कार्रवाई की जाएगी, जिन पर गैंगस्टर की कार्रवाई हो चुकी है।मन्नू कबाड़ी ने वाहन कटान से एक बस खरीदी थी। उसके बाद सैकड़ों बसें बनाकर मेरठ से गाजियाबाद मार्ग पर चलाईं। साथ ही वाहन कटान भी जारी रखा। अपने भाइयों को साथ लेकर वाहन कटान किया, जिससे वह करोड़ों का मालिक बन गया। पहले भी कई बार मन्नू कबाड़ी को पुलिस जेल भेज चुकी है। 

मेरठ से अन्य समाचार व लेख

» दोहरे हत्याकांड का राजफाश करने वाली पुलिस टीम का सम्मान

» पत्नी के टुकड़े-टुकड़े कर बोरे में भरकर नहर में फेंका

» मेरठ में सशस्त्र बदमाशों ने बाइक सवार से नकदी और मोबाइल लूटा

» प्लॉट पर कब्जे को लेकर दो पक्षों में खूनी संघर्ष, महिला सहित चार घायल

» ताला तोड़कर लाखों की नकदी और सोने चांदी के आभूषण चोरी