यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

जिला अस्पताल से बाइक चोरी करने वाले जीजा-साले पकड़े


🗒 बुधवार, जुलाई 21 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
जिला अस्पताल से बाइक चोरी करने वाले जीजा-साले पकड़े

मेरठ,। मेरठ में जिला अस्पताल से लगातार बाइक चोरी करने वाले जीजा-साले को पुलिस ने दबोच लिया। उनकी निशानदेही पर तीन अन्य आरोपित भी पकड़ लिए। दो गोदाम से पुलिस को आठ इंजन और चेसिस नंबर के साथ ही टंकी भी बरामद हुई है। सभी को जेल भेज दिया गया है।सीओ अरविंद चौरसिया ने बताया कि एक माह में जिला अस्पताल से सात बाइक चोरी हो गई थीं। टीम बनाकर आरोपितों को पकडऩे में लगाया। पुलिस ने मंगलवार को बाइक चोरी करते असलम निवासी मुमताजनगर तारापुरी और उसके साले वसीम निवासी कब्रिस्तान वाली गली तारापुरी थाना ब्रह्मपुरी को गिरफ्तार कर लिया। उनकी निशानदेही पर खत्ता रोड से शाहनवाज निवासी रशीद नगर थाना ब्रह्मपुरी को उसके गोदाम से पकड़ा। मौके से कटे हुए वाहन के सामान भी बरामद हुए। इसके बाद अखलाक निवासी तारापुरी थाना लिसाड़ी गेट को दबोच लिया। उसने आसिफ का नाम बताया, जिसका गोदाम टीपीनगर मंदिर के पास था। गोदाम से काफी माल बरामद हुआ।सीओ ने बताया कि असलम और वसीम का काम वाहन चोरी करने का था। इसके बाद उनको शाहनवाज और आसिफ के गोदाम पर ले जाया जाता था। वहां पर वाहन के सामानों को अलग-अलग कर बेचा जाता था। अखलाक का काम इंजन गलाने का था। पुलिस अब उनकी तलाश में जुटी है, जो माल खरीदते थे। सोतीगंज\ कनेक्शन भी खंगाला जा रहा है।शाहनवाज ने अपने गोदाम के आगे कपड़े की दुकान कर रखी थी, ताकि किसी को पता ना चले। इसका उसे काफी समय से फायदा भी मिल रहा था। पुलिस ने दोनों गोदाम से आठ इंजन, नौ चेसिस, नौ टंकी, आठ साइलेंसर, 22 टायर, चार मास्टर चाबी अकरम-वसीम से और काफी अन्य पाट्ट्र्स भी बरामद किए हैं। सीओ ने बताया कि आरोपित देहली गेट के साथ ही कोतवाली में भी वारदातों को अंजाम देते थे।पुलिस की सख्ती के बाद सोतीगंज में वाहनों का कटान बंद हो गया है। इसके चलते ही आरोपितों ने नई नई जगहों पर ठिकाने बनाने शुरू कर दिए हैं। देहली गेट पुलिस ने ब्रह्मपुरी और टीपीनगर में स्थित आरोपितों के गोदामों में से ही काफी माल बरामद किया है। पूछताछ में उन्होंने बताया था कि गोदाम में ही वाहन काटने का काम किया जाता है।मेरठ में मंगलवार को तीन युवकों ने एलआइसी कार्यालय के पास से बाइक चोरी कर ली थी। वीडियो फुटेज के आधार पर पुलिस ने तीनों को दबोच लिया। पूछताछ में एक युवक आइटीआइ का छात्र निकला, जबकि दूसरे युवक की बाइक रिपेयङ्क्षरग की दुकान पर वाहन को चोरी कर बेच देते थे। पुलिस ने तीनों को जेल भेज दिया। शास्त्रीनगर के ब्लाक निवासी विकास शर्मा प्रभात नगर में पट्रोल पंप के पीछे सैमसंग कार्यालय में नौकरी करते हैं। मंगलवार को उन्होंने अपनी बाइक कार्यालय के बाहर ही खड़ी कर दी थी। इस दौरान दो युवक उसे चोरी करते हुए सीसीटीवी में कैद हो गए थे।पुलिस ने बुधवार को सीसीटीवी की फुटेज के आधार पर तीन युवकों को पकड़ लिया। पूछताछ में उनकी पहचान जतिन निवासी नगला बट्टू, आशीष निवासी प्रभात नगर और हर्ष निवासी कंकरखेड़ा हैं। तीनों दोस्त हैं, जबकि आशीष आइटीआइ का छात्र है। उन्होंने बताया कि जतिन की नगला बट्टू में ही बाइक रिपेयरिंग की दुकान है। बाइक को चोरी कर दुकान पर ही ले गए थे। रात में उन्होंने आधी खोल ली थी, जिसके सामान बेचने की योजना था। थाना प्रभारी ने बताया कि तीनों को कोर्ट में पेश किया, जहां से उनको जेल भेज दिया गया। उनकी अन्य वारदातों के बारे में भी जानकारी जुटाई जा रही है।