यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

आन डिमांड बेचा जा रहा था नकली प्रोटीन, मेरठ में 25 लाख का माल बरामद


🗒 शनिवार, सितंबर 11 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
आन डिमांड बेचा जा रहा था नकली प्रोटीन, मेरठ में 25 लाख का माल बरामद

मेरठ,  मेरठ में नकली प्रोटीन के मामले में एसटीएफ 15 कुंतल माल बरामद कर चुकी है, जिसकी कीमत करीब 25 लाख है। आरोपित आन डिमांड सप्लाई कर रहे थे। पूरे देश से उनको आडर मिल रहे थे। शनिवार को गिरफ्तार सरताज को जेल भेज दिया गया, जबकि अन्य दो आरोपितों की तलाश में दबिश दी जा रही है।शुक्रवार रात एसटीएफ ने ब्रह्मपुरी क्षेत्र के लिसाड़ी रोड ट्यूबवेल तिराहे के पास स्थित दुकान से नकली प्रोटीन बरामद किया था। टीम ने लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र के शकूर नगर निवासी सरताज को भी गिरफ्तार किया था। पूछताछ में उसने बताया कि आन डिमांड भी माल सप्लाई किया जा रहा था। देश भर से उसके पास आर्डर आते थे। वह नकली प्रोटीन खैरनगर से खरीदता था। उनको डिब्बो, पालीथिन में पैक कर बेच देता था। दिल्ली के बवाना इंडस्ट्रियल एरिया में भी उसका गोदाम है।उसने बताया कि नकली स्टीकर और लबराडा कंपनी के प्रिंटिड पालीथिन बैग की सप्लाई कोतवाली थाना क्षेत्र के शाहपीर गेट निवासी शाहजेब करता था, जबकि खाली डिब्बे, अन्य विदेशी कंपनियों के लेबल दिल्ली निवासी रोशन कुमार करता था। उसकी पुलिस तलाश में जुटी हुई है। मेरठ और दिल्ली से वह माल की सप्लाई दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, पंजाब, उत्तराखंड के साथ ही महाराष्ट्र समेत पूरे देश में कर रहा था। दस साल से वह इस धंधे से जुड़ा हुआ है।पूछताछ में सरताज ने बताया कि वह खैरनगर और दिल्ली से नकली प्रोटीन सौ रुपये किलो में खरीदकर 15 सौ रुपये में बेच रहा था। इसके बाद वहीं माल दुकानों और अन्य जगहों पर हजारों की कीमत में बेचा जाता था। एसटीएफ सीओ ब्रजेश कुमार ने बताया कि आरोपित की निशानदेही पर मेरठ और दिल्ली से करीब 15 कुंतल माल बरामद हुआ है। उसके दोनों अन्य साथियों की भी तलाश की जा रही है। सरताज पहली बार गिरफ्तर में आया है।