यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

सरेराह दो बहनों को उठाने के प्रयास में मुकदमा, चार गिरफ्तार


🗒 बुधवार, अक्टूबर 13 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
सरेराह दो बहनों को उठाने के प्रयास में मुकदमा, चार गिरफ्तार

मेरठ,। महिला अपराध को लेकर योगी सरकार की नीति जीरो टालरेंस की है। इसके बावजूद मनचलों ने मेडिकल थाना क्षेत्र में दो बहनों का घर से निकलना दूभर कर दिया। मंदिर में पूजा करने गई दो बहनों को सरेराह उठाने का प्रयास किया। विरोध करने पर थप्पड़ जड़े। पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर चार आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। थाने में पीड़िता के 161 सीआरपीसी के बयान दर्ज किए गए।मेडिकल थाना क्षेत्र की रहने वाली दो बहनें बच्चा पार्क के समीप एक कालेज में पढ़ती हैं। शेरगढ़ी में रहने वाले आरोपित अमित, नितिन और आकाश के खौफ से छात्राओं ने कालेज जाना बंद कर दिया। मंगलवार को दोनों बहनें मंशादेवी मंदिर से पूजा करने के बाद घर लौट रही थीं। आरोप है कि तीनों आरोपितों ने उनका पीछा किया। सद्भावना पार्क के पास उन्हें अगवा करने का प्रयास किया। विरोध करने पर थप्पड़ भी जड़े। छात्राओं की मा की तहरीर पर पुलिस ने अमित, आकाश और नितिन के खिलाफ छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज किया। पुलिस ने दबिश देकर अमित और नितिन को गिरफ्तार कर लिया है, वहीं आकाश अभी फरार चल रहा है। इंस्पेक्टर संत शरण ने बताया कि पीड़िताओं को आरोपित कई दिनों से परेशान कर रहे थे। फरार आकाश की धरपकड़ को दबिश डाली जा रही है।विवेचक दारोगा ने बताया कि आरोपित अमित ने छात्राओं को सरेराह थप्पड़ जड़े थे। उससे पहले भी कालेज जाते समय दोनों बहनों के साथ छेड़छाड़ की जा रही थी। आरोपितों के पकड़े जाने के बाद अब छात्राएं दोबारा कालेज जाने की हिम्मत जुटा रही हैं।अमित के साथी कृष्ण उर्फ गोल्डी और नरेंद्र को भी पुलिस ने पकड़ लिया है। इन दोनों ने अमित का साथ दिया था। इनका पुलिस ने शातिभंग में चालान किया है।