यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

मनचले को फंसाने के लिए रचा था अपहरण का ड्रामा


🗒 शुक्रवार, जनवरी 14 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
मनचले को फंसाने के लिए रचा था अपहरण का ड्रामा

मेरठ, । महिला बाक्सर को बरामद करते हुए पुलिस ने मामले का राजफाश कर दिया। किशोरी ने मनचले को फंसाने के लिए प्रेमी के साथ मिलकर अपहरण का ड्रामा रचा था। पुलिस ने प्रेमी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।पुलिस लाइन में शुक्रवार को आयोजित प्रेसवार्ता में एसपी सिटी ने बताया कि परतापुर थाना क्षेत्र निवासी किशोरी स्टेडियम में बाक्सिंग सीखने आती है। करीब दो साल पहले उसकी मुलाकात टेंपो चालक आदिफ निवासी रशीदनगर जोगी वाली गली थाना लिसाड़ी गेट से हुई थी। तभी से उनमें प्रेम-प्रसंग चल रहा था। 14 दिसंबर को नानू निवासी प्रवेश ने उससे छेड़छाड़ की। शिकायत पर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया था। उसे फंसाकर आराम से प्रेमी के साथ रहने के लिए ही खिलाड़ी ने अपहरण का ड्रामा रचा। बुधवार देर शाम किशोरी स्टेडियम से निकलकर आंबेडकर चौराहे पहुंची और फिर मुंह पर दुपट्टा रखकर बहन को फोन किया। रोते हुए अपहरण की जानकारी दी। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर ली थी। शुक्रवार को खिलाड़ी और प्रेमी को जेल चुंगी चौराहे के पास से बरामद कर लिया गया। किशोरी को स्वजन के हवाले कर दिया, वहीं प्रेमी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया।पुलिस ने खिलाड़ी के मोबाइल की जांच की तो एक नंबर से लगातार बात होना सामने आया। उस नंबर से खिलाड़ी की एक सहेली को भी फोन किया जा रहा था। सहेली को भी इस संबंध की पूरी जानकारी थी। उससे पूछताछ की तो वह पुलिस को गुमराह करने की कोशिश कर रही थी। एक माह में प्रेमी ने तीन सौ बार बात की थी। सर्विलांस की मदद से दोनों को बरामद किया गया।किशोरी आदिफ के टेंपो में ही आती-जाती थी। किशोरी की उम्र 17 साल है, वहीं आदिफ 28 साल का है। इसलिए उस पर पाक्सो एक्ट के तहत भी कार्रवाई की जा रही है। युवक ने बताया कि किशोरी उसे राहुल नाम से बुलाती थी। नंबर भी उसी नाम से मोबाइल में सेव कर रखा था।