यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

मीरजापुर मे बेटी के प्रेम संबंधों से आजिज माता-पिता ने गला दबाकर की हत्‍या


🗒 शुक्रवार, जनवरी 08 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
मीरजापुर मे बेटी के प्रेम संबंधों से आजिज माता-पिता ने गला दबाकर की हत्‍या

मीरजापुर, । जमालपुर के कुटी की बारी निवासी अमरनाथ बियार ने ही अपनी पत्नी शिवकुमारी के साथ मिलकर बेटी अंजली उर्फ पुष्पा (17) की दो जनवरी की रात मारने-पीटने के बाद दुपट्टे से गला दबाकर हत्या की थी। दो दिनों तक शव को घर में रखने के बाद चार जनवरी को गांव के पूर्वी सिवान स्थित एक नाले में ले जाकर फेंक दिया। इसके बाद उसे पुआल से ढककर फरार हो गए। आशंका होने पर पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर पूछताछ की तो बेटी की हत्या करने की बात कबूल कर ली। दोनों आरोपित बेटी की चाल-चलन से परेशान थे। गांव में हो रही बदनामी को बचाने के लिए उसकी हत्या की। इनके विरुद्ध हत्या सहित अन्य आरोप में मुकदमा पंजीकृत कर जेल भेज दिया गया है। ये बातें अपर पुलिस अधीक्षक आपरेशन महेश अत्री पुलिस लाइन में बताई।उन्होंने बताया कि पांच जनवरी को जमालपुर के पूर्वी सिवान स्थित राधेश्याम विश्वकर्मा के खेत में एक अज्ञात किशोरी का शव बरामद हुआ था। शरीर पर मौजूद चोट के निशान देखकर लगा कि उसकी हत्या की गई है। परिजनों को बुलाकर शव की शिनाख्त करायी तो पिता अमरनाथ ने उसका नाम अंजली उर्फ पुष्पा बताया। बेटी की हत्या होने के बावजूद परिवार पर कोई प्रभाव न दिखने पर पुलिस को इन लोगों पर हत्या करने का  शक हुआ। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हत्या की पुष्टि होने पर पुलिस ने पिता अमरनाथ व उसकी पत्नी शिवकुमारी से पूछताछ की। पिता ने बताया कि अंजली का पिछले एक साल से घर के पीछे रहने वाले एक युवक से प्रेम संबंध चल रहा था, जिसके साथ वह अक्सर घुमने-फिरने जाया करती थी। इसको लेकर गांव में उसकी बदनामी हो रही थी। युवक के साथ जाने से मना किया जा रहा था, लेकिन वह मान नहीं रही थी। दो जनवरी को भी उसके साथ कहीं घुमने गई थी। देर रात घर आई तो उसे फटकार लगाया तो लडऩे लगी। यह देख उसकी मां ने उसे दो थप्पड़ मारा तो उनसे भी उलझ गई। मां से उलझता देख वे अंजली को पीटने लगे। गुस्से में आकर उसी के दुपट्टे से उसका गला कसकर हत्या कर दी। उसकी मौत के बाद शव को कमरे में रखकर घर में ताला लगाकर दो दिन एक रिश्तेदार के यहां चले गए। वहीं पर शव को ठिकाने लगाने की योजना बनाई। चार जनवरी को दोबारा घर आकर देर रात शव को बाहर निकाले और गांव के राधेश्याम के खेत में फेंककर चले आए।अंजली के घर के पीछे रहने वाला उसका प्रेमी दो दिनों तक अंजली के दिखाई नहीं देने पर उसके बारे में लोगों से पूछता रहा कि वह कहीं गई है। जैसे ही पांच जनवरी को उसे पता चला कि उसकी प्रेमिका अंजली की हत्या कर दी गई तो वह बिहार भाग गया और अभी तक नहीं लौटा है।

मिर्जापुर से अन्य समाचार व लेख

» मीरजापुर में बाण सागर नहर में डूबने से बालिका की मौत

» सपा MLC आशुतोष का विवादित बयान, कहा- नपुंसक न बना दे COVID19 वैक्सीन

» मीरजापुर तिराह हत्‍याकांड में एडीजी ने पीडि़त परिजनों से मिलकर एक घंटे तक की गोपनीय बातचीत

» मीरजापुर में पशु तस्कर को पकड़ने गई पुलिस टीम पर महिलाओं ने किया पथराव

» सोनभद्र चार्ज लेने जा रहे नवागत एसपी अमरेंद्र प्रसाद सिंह के वाहन ऊपर पलटा ट्रक, बाल-बाल बचे

 

नवीन समाचार व लेख

» कानपुर में प्रेमी के आत्महत्या करने के बाद प्रेमिका ने भी दी जान

» बिधनू में सरेराह युवती को खींचकर कार से उठाया,शोहदों ने साढ़ थानाक्षेत्र में फेंका

» सीओ ऑफिस के सामने दिन दहाड़े फर्नीचर की दुकान के बाहर चोरी

» बुलंदशहर शराब कांड में मुख्‍य आरोपित कुलदीप गिरफ्तार,

» प्रतापगढ़ में एसपी कार्यालय में फरियादियों की भीड़ देख चढ़ा एडीजी का पारा, लापरवाही पर लालगंज कोतवाल निलंबित